पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Plans For Which Are In Operation, They Do Not Know

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जिनके लिए चल रही हैं योजनाएं, उनको ही नहीं मालूम उसके बारे में

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

धमतरी। छग श्रम कल्याण मंडल द्वारा राज्य के कारखानों, संस्थानों में काम करने वाले श्रमिकों एवं उनके बच्चों के कल्याण के लिए दर्जनभर योजनाएं चलाई जा रही हैं, जिले में इनका क्रियान्वयन सिर्फ कागजों तक सिमटा नजर आ रहा है। प्रचार-प्रसार नहीं होने से खुद श्रमिकों को इनकी जानकारी नहीं है।




जिले में सर्वाधिक राइस मिलें हैं और अनके छोटे-बड़े औद्योगिक संस्थान संचालित हैं, जहां शहर सहित जिलेभर के हजारों श्रमिक कार्यरत हैं। सरकार इनके लिए कई कल्याणकारी योजनाएं चला रही है, लेकिन एक भी श्रमिक को इसका लाभ नहीं मिल सका है। ‘दैनिक भास्कर’ ने कुछ श्रमिकों से चर्चा कर हकीकत जाननी चाही, तो उन्होंने कहा कि हमारे लिए बनी योजनाओं की जानकारी अभी आपसे मिल रही है। उन्होंने कहा कि इस बारे में कुछ पता ही नही है, तो कैसे लाभ लेंगे।




औद्योगिक वार्ड के राइस मिल में कार्यरत मिलऊ सोरी, कुंजलाल यादव, नारायण ध्रुव, सावित्री ध्रुव ने बताया कि इतनी सारी योजनाएं हमारे लिए है यह जानकारी हमें आज लगी है। हमारे बच्चे सरकारी स्कूल में पढ़ते हैं, जिन्हें स्कूल की ओर से काफी, किताब, ड्रेस मिलती है। श्रम कल्याण मंडल भी हमारे बच्चों को स्कालरशिप सिहत अन्य सुविधाए देगा, यह पहली बार सुन रहे हैं। योजनाओं की जानकारी देने आज तक न कोई अधिकारी पहुंचा और न ही नियोजकों ने कुछ बताया। अब हम जल्द ही इसके लिए आवेदन करेंगे।

जमा कराएं आवेदन



विभाग द्वारा मीडिया और अन्य माध्यमों से योजनाओं का प्रचार किया जाता है। इसकी जानकारी कारखाने वालों को भी है। श्रम कार्यालय में अब तक किसी भी श्रमिक ने आवेदन नहीं किया है। योजनाओं का लाभ लेने श्रमिक यहां आकर आवेदन जमा कर सकते हैं। अजय हेमंत देशमुख



नहीं मिला एक भी आवेदन



छग श्रम कल्याण मंडल से रजिस्टर्ड अनेक कारखाने, संस्थान जिले में हैं, लेकिन यहां कार्यरत एक भी श्रमिक ने अब तक योजनाओं का लाभ लेने के लिए जिला श्रम कार्यालय में आवेदन नहीं दिया है। इन श्रमिकों के लिए जिले में 11 योजनाएं चल रही हैं।



शैक्षणिक छात्रवृत्ति योजनांतर्गत श्रमिकों के बच्चों को 5 वीं से 12 वीं तक 1 हजार की छात्रवृत्ति, स्नातक के लिए 2500 तथा स्नातकोत्तर, बीई आईटीआई, एमबीबीएस, पालीटेक्निक, एमबीए के लिए ३ हजार रुपए छात्रवृत्ति के रूप में दी जाएगी।



बालिका विवाह सहायता योजनांतर्गत श्रमिकों की एक पुत्री अशिक्षित या 5 वीं तक शिक्षित को 5 हजार, 5 वीं से अधिक शिक्षिक को 8 हजार रुपए प्रदान किए जाएंगे। श्रमिकों की मृत्यु होने पर अंतिम संस्कार के लिए 10 हजार रुपए दिए जाएंगे। इसी तरह उत्तम श्रमिक पुरस्कार योजना, श्रमिक साहित्य पुरस्कार योजना, सिलाई कढ़ाई प्रशिक्षण, स्वास्थ्य परीक्षण शिविर, श्रमिकों हेतु खेलकूद प्रतियोगिता, मासिक कल्याण बुलेटिन का प्रकाशन, श्रम कल्याण केन्द्रों का संचालन, रियायती दर पर कापी वितरण की भी योजना चल रही है।



आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

और पढ़ें