पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Teacher Raped Two School Girls Of Class Ten, Left By 51 Thousand Penalty

महीने भर से स्कूल की दो बच्चियों के जिस्म से खेल रहा था टीचर, हुई मामूली सजा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
महासमुंद। बसना के कोलिहादेवरी हाईस्कूल में पढ़ने वाली कक्षा दसवीं की दो छात्राओं के साथ यहां का शिक्षाकर्मी सुरेश नंद महीने भर से शारीरिक शोषण करता रहा। गांव वालों को जब इसका पता चला तो उन्होंने बैठक की और शिक्षाकर्मी पर 51 हजार रुपए का जुर्माना लगाकर छोड़ दिया। घटना के बाद से शिक्षाकर्मी गायब है। छात्राएं भी स्कूल नहीं जा रही हैं।
करीब 16 वर्षीय इन छात्राओं में से एक आदिवासी है। एक मार्च से उनकी परीक्षा है, पर उन्होंने अब तक प्रवेश-पत्र भी नहीं लिया है। ग्रामीणों को पूरे मामले की जानकारी पहले से हो गई थी और वे शिक्षाकर्मी को रंगे हाथ पकड़ना चाहते थे।
17 फरवरी को शिक्षाकर्मी सुरेश नंद दोनों लड़कियों को परीक्षा की तैयारी कराने की बात कहकर अपने घर ले जा रहा था। बरगांव के पास ग्रामीणों ने उन्हें घेर लिया।
आदिवासी छात्रा के रिश्तेदारों ने शिक्षाकर्मी की जमकर पिटाई भी की। फिर उसे बांधकर डूभाभाठा गांव ले गए। 18 फरवरी की रात ग्राम प्रमुख बन्नू गौटिया की अगुवाई में धूमागांव में ग्रामीणों ने बैठक की। इसमें छात्राओं के मां-बाप समेत करीब 100 ग्रामीण मौजूद थे।
शिक्षाकर्मी ने सबके सामने लिखित में गुनाह कबूल किया। उसने जुर्माने की राशि भी भर दी। कुछ ग्रामीणों ने दैनिक भास्कर को बताया कि चूंकि दानों छात्राएं नाबालिग हैं और उनका भविष्य सुरक्षित रहे, इसलिए मामले को गांव में ही सुलझाया गया।
शिक्षाकर्मी ने दिया ट्रांसफर का आवेदन
शिक्षाकर्मी नंद 18 फरवरी से स्कूल नहीं जा रहा है। उसने बीईओ राबर्ट मिंज को तबीयत खराब होने का हवाला देते हुए 28 फरवरी तक छुट्टी मांगी है। शिक्षाकर्मी ने 22 फरवरी को एक और आवेदन दिया है, जिसमें उसने ट्रांसफर करने का निवेदन किया है।
हुआ है 51 हजार का अर्थदंड
ग्रामीणों ने बैठक कर शिक्षाकर्मी सुरेश नंद पर 51 हजार रुपए का अर्थदंड किया है। मैं किसी कारण वश बैठक में शामिल नहीं हो पाया। मामले को पुलिस तक नहीं ले जाने के लिए सभी एक मत हुए हैं।
-सदाराम नाग, सरपंच कोलिहादेवरी
शिकायत मिली है, कार्रवाई होगी
एक नहीं, छह महीने से उस आदिवासी लड़की के साथ शिक्षाकर्मी सुरेश नंद के अवैध रिश्ते की शिकायत प्रशासन को मिली है। सराईपाली एसडीएम नेतृत्व में जांच टीम बनाकर मौके पर भेज रही हूं। लड़की के बयान के लिए महिला अधिकारी को जांच टीम में शामिल किया गया है। शिकायत सही है। दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है।
-आर संगीता, कलेक्टर, महासमुंद
जांच कर दोषियों पर कार्रवाई करेंगे
मुझे मामले की जानकारी नहीं है, तत्काल बसना पुलिस को भेजकर जांच करवा रही हूं। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। किसी भी मामले में दंड का अधिकार ग्रामीणों को नहीं है।
-नीथू कमल, एसपी, महासमुंद
गांव की बात, गांव में ही सुलझाई गई
गांव के नियमों के अनुसार मामले को गांव में ही सुलझाने का प्रयास किया गया है। शिक्षाकर्मी से मिली जुर्माने की राशि को गांव के विकास में खर्च किया जाएगा।
-अमियकिशोर कानूनगो (बुन्नू गौटिया), ग्राम प्रमुख, धूमाभाठा
कोर्ट-कचहरी में हमलोग नहीं पड़ना चाहते
पुलिस में न जाने के लिए ग्रामीणों ने कहा था। हमें गांव में ही रहना है, इसलिए बैठक का फैसला हमें मानना पड़ा। बेटियों का मामला है, हमलोग भी कोर्ट-कचहरी के चक्कर में नहीं पड़ना चाहते हैं।
-पीड़ित के परिवार वाले