• Hindi News
  • Single Parents, Special Children And Transfer Case Are Also Scant

सिंगल पेरेंट्स, स्पेशल चिल्ड्रेन और ट्रांसफर केस को भी दे रहे हैं खास तवज्जो

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्ली. कई स्कूल ऐसे भी हैं जिन्होंने अपने प्वाइंट सिस्टम में कुछ अलग सेक्शन भी डाले हैं। इनके तहत डीएवी पब्लिक स्कूल रोहिणी ने अपने एडमिशन क्राइटेरिया में चैलेंज्ड बच्चों, सिंगल पेरेंट्स और ट्रांसफर पेरेंट्स को भी प्वाइंट सिस्टम में जोड़ा है।

चैलेंज्ड बच्चों के लिए 10 प्वांइट, सिंगल पेरेंट्स के लिए 10 प्वाइंट और ट्रांसफर केस के लिए 10 प्वाइंट रखा गया है। वहीं गीता रतन जिंदल पब्लिक स्कूल रोहिणी में सिंगल पेरेंट्स के लिए 10 प्वाइंट, डिफेंस और सिविल सर्विस पेरेंट्स को 5 प्वाइंट, ओनली गर्ल चाइल्ड के लिए 15 प्वाइंट हैं। अरवाचिन भारती भवन सीनियर सेकेंड्री स्कूल, विवेक विहार सिंगल पेरेंट्स को 10 प्वाइंट दे रहे हैं।

टैगोर इंटरनेशनल स्कूल वसंत विहार के अनुसार, प्वाइंट सिस्टम के तहत जिन बच्चों के घर तक स्कूल ट्रांसपोर्ट जाती है उन्हें 20 प्वाइंट दिया जाएगा, वहीं दूसरीे कैटेगरी के तहत बच्चों के स्टेटस को ध्यान में रखकर दाखिला होगा। जैसे 30 प्वाइंट पेरेंट्स के सबसे बड़े बच्चे के लिए दिया जा रहा है, 10 प्वाइंट दूसरे संतान के लिए और तीसरे संतान को शून्य अंक दिया जाएगा।

दिल्ली पब्लिक स्कूल, आरकेपुरम डीपीएस ने भी सिंगल पेरेंट्स के लिए 7 प्वाइंट रखे हैं। हालांकि इस कैटेगरी में विधवा अथवा विधुर अभिभावकों को ही अंकित किया गया। इसके अलावा यहां विशेष बच्चों के लिए भी 7 प्वाइंट रखे गए हैं।