• Hindi News
  • These Six Fast Track Courts Of Delhi Will Give Fast Justice For Rape Victims

इन छह तेजतर्रार जजों की फास्ट ट्रैक कोर्ट देंगी रेप पीड़ितों को जल्द ‘इंसाफ’

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्‍ली। देशवासियों की तमाम दुआएं भले ही “दामिनी” को नया जीवन नहीं दे सकीं, लेकिन उसकी कुर्बानी ने यौन उत्‍पीड़न और प्रताड़ना का शिकार हुई महिलाओं को जल्‍द से जल्‍द इंसाफ दिलाने की राह तैयार कर दी है। दरअसल, इस तरह के मामलों के लिए राजधानी में छह नई विशेष फास्‍ट ट्रैक अदालतों का गठन हो गया है। यह अदालतें दिल्‍ली के साकेत, कड़कड़डूमा, रोहिणी, तीस हजारी और द्वारका में बनाई गई हैं और इनके पीठासीन अधिकारी यानि जजों को भी नियुक्‍त कर दिया गया है।

खास बात यह भी है कि इन न्‍यायालयों की कमान जिन जजों को सौंपी गई हैं, वे सभी दिल्‍ली उच्‍च न्‍यायिक सेवा के तेजतर्रार जजों में से एक हैं। इन विशेष अदालतों में क्षेञाधिकार के हिसाब से अलग-अलग अदालतों में चल रहे केस स्‍थानांतरित कर दिए जाएंगे।

दिल्‍ली हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस और अन्‍य न्‍यायाधीशों की सहमति से इन जजों की नियुक्ति की गई हैं। ये तेजतर्रार जज हैं अतिरिक्‍त सञ न्‍यायाधीश योगेश खन्‍ना, डॉ टीआर नवल, महेशचंद्र गुप्‍ता, निवेदिता अनिल शर्मा, वीरेंद्र भट्ट और कावेरी बावेजा। ये वि‍शेष अदालतें यह सुनिश्चित करेंगी कि अब किसी और दामिनी को इंसाफ के लि‍ए सालों तक इंतजार न करना पडे और उन्‍हें जल्‍द से जल्‍द न्‍याय मिल सके। कोशिश यह रहेगी कि दोषी दरिंदे जल्‍द ही सजा पा सकें।

गाजियाबादः 7 साल की बच्ची को रेप के बाद तेजाब डालकर मार डाला, विरोध में भड़की हिंसा

यूपी में बारहवीं के सात लड़कों ने किया नाबालिग से गैंगरेप

दिल्‍लीगैंगरेप: पितानेदुनियाकोबतायाबेटीकानाम

आसारामबापूनेदिल्‍लीगैंगरेपकीशिकारकोहीबतायादोषी!

आंखोंदेखी: तनढंकनेकेलिएकिसीनेकपड़ेतकनहींदिएथे'दामिनी' को...

महिलाओंकोनंगाकरनायौनअपराधनहीं! बलात्‍कारीकेबादकानूनकरताहैपीडि़ताका'बलात्‍कार'

'नाबालिग' आरोपीनेकीथीसबसेज्‍यादादरिंदगी, दोबारकियाथा'दामिनी' काबलात्‍कार!