Home | DB Videos | DBV | Munna Bhai wants undisclosed corpses to receive last rites

मुन्ना भाई लावारिस लाशो को देते हैं अात्मा को शांति

मुन्ना भाई भोपाल के हैं और वे लावारिस लाशों का दाह-संस्कार करते है..

dainikbhaskar.com| Last Modified - Dec 30, 2017, 12:33 PM IST

Munna Bhai wants undisclosed corpses to receive last rites
मुन्ना भाई लावारिस लाशो को देते हैं अात्मा को शांति
मुन्ना भाई भोपाल के हैं और वे लावारिस लाशों का दाह-संस्कार करते है.. लावारिस  मतलब जिनका कोई इस दुनिया मे नहीं होता...साथ-साथ गरीबों को देते हैं फी में दाह-संस्कार का सामान...जब वे छोटे थे तब से वह ये काम करते आ रहें है...बीना किसी स्वार्थ के वह लावारिस लाशों का  दाह-संस्कार करते है...और मुफ्त में गरीबों को मुफ्त में दाह-संस्कार का सामान देते हैं...है। उन्होनें एक लावारिस लाश का श्राद्ध भी किया... जैसा मुन्ना भाई ने करा वैसा करके हम मृत आत्मा की शांति-तर्पण दान देकर उनका आशीर्वाद और कृपा प्राप्त कर सकते हैं। गरुड़ पुराण के मुताबिक श्राद्ध कर्म से संतुष्ट होकर पितर हमें आयु, पुत्र, यश, वैभव, समृद्धि देते हैं। स्कंद पुराण के अनुसार श्राद्ध में पितरों की तृप्ति ब्राह्मणों के द्वारा ही होती है। श्राद्ध के पिण्डों  को गाय, कौवा अथवा अग्रि या पानी में छोड़ दें। पितृ दोष हो तो गृह एवं देवता भी काम नहीं करते तथा एेसे जातक का जीवन शापित एवं अशांत हो जाता है।   दुनिया में परम्पराओं की परंपरा निभाने वालों की कमी नहीं है पर जिनका कोई नहीं होता उन्के लिए कुछ नहीं करा जाता ..मुन्ना भाई उनकी  आत्मा को शांति दिलाने का काम करते हैं...
prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now