--Advertisement--

यहां पांडवो ने क्यो बनाया था यहां मंदिर, जाने इसका रहस्य

भीमबेटका को भीम का निवास भी कहते हैं। हिंदू ग्रंथ महाभारत के अनुसार भीम पांच पांडवों में से द्वितीय थे।

Dainik Bhaskar

Jan 02, 2018, 01:41 PM IST
भीमबेटका भारत के मध्य प्रदेश प्रान्त के रायसेन जिले में स्थित है.. ये गुफ़ाएँ भोपाल से 46 किलोमीटर की दूरी पर स्थित विंध्याचल की पहाड़ियों के निचले छोर पर हैं। भीमबेटका को भीम का निवास भी कहते हैं। हिंदू ग्रंथ महाभारत के अनुसार भीम पांच पांडवों में से द्वितीय थे। भीम के निवास स्थान के कारण ही इनका नाम भीमबैठका पड़ा। यहां करीब 600 गुफाएं हैं. 2003 में ‘यूनेस्को’ ने इसे विश्व धरोहर स्थल घोषित किया। इसकी खोज 1957 में की गई थी...वी. एस. वाकंकर एक बार रेल से भोपाल जा रहे थे तब उन्होंने कुछ पहाड़ियों को इस रूप में देखा जैसा कि उन्होंने स्पेन और फ्रांस में देखा था। भीमबेटका गुफ़ाओं में बनी चित्रकारियाँ यहाँ रहने वाले पाषाणकालीन मनुष्यों के जीवन को भी दर्शाती है। भीमबेटका गुफ़ाओं में अधिकांश तस्‍वीरें लाल और सफ़ेद रंग के है जिनमें दैनिक जीवन की घटनाओं से ली गई विषय वस्‍तुएँ चित्रित हैं, जो हज़ारों साल पहले का जीवन दर्शाती हैं।वास्तव में, ये गुफाचित्र ही यहां के प्रमुख आकर्षण हैं और ये ऑस्ट्रेलिया के सवाना क्षेत्र और फ्रांस के आदिवासी शैल चित्रों से मिलते हैं जो कालीहारी मरुस्थल के बौनों द्वारा किया गया है.
X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..