Hindi News »DB Videos »DBV» The Untold Story Of Bhimbetka Caves :The Pandav Connection

यहां पांडवो ने क्यो बनाया था यहां मंदिर, जाने इसका रहस्य

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jan 02, 2018, 03:37 PM IST

भीमबेटका को भीम का निवास भी कहते हैं। हिंदू ग्रंथ महाभारत के अनुसार भीम पांच पांडवों में से द्वितीय थे।
    भीमबेटका भारत के मध्य प्रदेश प्रान्त के रायसेन जिले में स्थित है.. ये गुफ़ाएँ भोपाल से 46 किलोमीटर की दूरी पर स्थित विंध्याचल की पहाड़ियों के निचले छोर पर हैं। भीमबेटका को भीम का निवास भी कहते हैं। हिंदू ग्रंथ महाभारत के अनुसार भीम पांच पांडवों में से द्वितीय थे। भीम के निवास स्थान के कारण ही इनका नाम भीमबैठका पड़ा। यहां करीब 600 गुफाएं हैं. 2003 में ‘यूनेस्को’ ने इसे विश्व धरोहर स्थल घोषित किया। इसकी खोज 1957 में की गई थी...वी. एस. वाकंकर एक बार रेल से भोपाल जा रहे थे तब उन्होंने कुछ पहाड़ियों को इस रूप में देखा जैसा कि उन्होंने स्पेन और फ्रांस में देखा था। भीमबेटका गुफ़ाओं में बनी चित्रकारियाँ यहाँ रहने वाले पाषाणकालीन मनुष्यों के जीवन को भी दर्शाती है। भीमबेटका गुफ़ाओं में अधिकांश तस्‍वीरें लाल और सफ़ेद रंग के है जिनमें दैनिक जीवन की घटनाओं से ली गई विषय वस्‍तुएँ चित्रित हैं, जो हज़ारों साल पहले का जीवन दर्शाती हैं।वास्तव में, ये गुफाचित्र ही यहां के प्रमुख आकर्षण हैं और ये ऑस्ट्रेलिया के सवाना क्षेत्र और फ्रांस के आदिवासी शैल चित्रों से मिलते हैं जो कालीहारी मरुस्थल के बौनों द्वारा किया गया है.
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: yaha paandvo ne kyo banayaa thaa yaha mandir, jaane iska rhsy
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    Stories You May be Interested in

        रिजल्ट शेयर करें:

        More From DBV

          Trending

          Live Hindi News

          0
          ×