एजूकेशन भास्कर

--Advertisement--

59 साल के करोड़पति मेयर लाल बत्ती में 10वीं की एग्जाम देने पहुंचे स्कूल

रूपवास उच्च माध्यमिक विद्यालय में उस वक्त हड़कंप मच गया जब शहर के मेयर शिव सिंह भौंठ 10 वीं का एग्जाम देने पहुंच गए।

Danik Bhaskar

Mar 11, 2016, 10:05 AM IST
भरतपुर के मेयर शिव सिंह भौंठ 10 वीं का एग्जाम देने पहुंचे। भरतपुर के मेयर शिव सिंह भौंठ 10 वीं का एग्जाम देने पहुंचे।
भरतपुर।शहर के रूपवास उच्च माध्यमिक विद्यालय में उस वक्त हड़कंप मच गया जब शहर के मेयर शिव सिंह भौंठ 10 वीं का एग्जाम देने पहुंच गए। पहले तो टीचर्स को समझ में नहीं आया कि ये यहां क्यों आए हैं। थोड़ी देर बाद उन्होंने देखा कि वे एक एग्जामिनेशन रूम में गए और प्रवेश पत्र निकाल कर पेपर बंटने का इंतजार कर रहे है। लाल बत्ती में पहुंचे मेयर के जूते तक उतरवा लिए उड़न दस्ते ने…
मेयर शिव सिंह लाल बत्ती की कार से एग्जामिनेशन सेंटर पर पहुंचे, हालांकि मेयर ने अपनी लाल बत्ती पर कैप लगा रखी थी। वहां वे एक स्टूडेंट की तरह बिना किसी से कुछ बात किए सीधे परीक्षा कक्ष में जा पहुंचे। कुर्ता पायजामा में पहुंचे मेयर ने जूता पहन रखा थे। जब एग्जाम के बीच उड़न दस्ता आया तो मेयर से जूते उतारने की गुजारिश की। मेयर ने तुरंत ही एक अच्छे स्टूडेंट की भांति आज्ञा मानते हुए जूते उतार दिए और इंग्लिश का एग्जाम खत्म होने के बाद वे सीधे वहां से निकलकर बाहर आ गए।

शहर के रइसों में शुमार हैं ये मेयर
59 साल के शिव सिंह भरतपुर के करोड़पति हैं और इनकी गिनती शहर के जाने-माने रइसों में होती है। जब भरतपुर नगर परिषद हुआ करता था तब ये यहां के चेयरमैन थे। नगर निगम के गठन के बाद इन्हें पहले मेयर के रूप में यहां की जनता ने चुना है। स्थानीय राजनीति में ये लंबे समय से हैं। शहर में पेट्रोल पंप के अलावा इनके कई और बिजनेस भी हैं।
अगली स्लाइड में देखिए वीडियो और जानिए मेयर को 59 साल की उम्र में 10वीं की परीक्षा में बैठने की जरूरत क्यों पड़ी...
मेयर शिव सिंह भौंठ एग्जाम देते हुए। मेयर शिव सिंह भौंठ एग्जाम देते हुए।
भविष्य में चुनाव लड़ने के लिए योग्यता की शर्त
 
शिव सिंह 8वीं क्लास पास है। चुनाव के नए नियमों में शैक्षिक योग्यता की सीमा 10वीं पास हो जाने के बाद उनकी चिंता बढ़ गई। उन्हें लगा कि अगले चुनाव में वे अपात्र घोषित हो जाएंगे। ऐसे में उन्होंने 10वीं पास करने की ठान ली।

कर रहे है पढ़ाई
 
अपने घर के बाहर बैठकर जहां वे लोगों की समस्याएं सुनते थे। हर रोज अपने बिजनेस और उनके बही खाता में उलझे रहते थे। वहीं अब वे 10वीं की किताबों को अपना वक्त दे रहे हैं। लोगों को जब से पता चला है, कि वे 10वीं की परीक्षा दे रहे हैं वे तभी से उनके घर कम आ रहे हैं ताकि मेयर को पढ़ाई में डिस्टर्ब न हो और उन्हें पढ़ने का भरपूर मौका मिले।
 

अगली स्लाइड्स में क्लिक करिए खबर की और फोटोज
59 साल के शिव सिंह भरतपुर में करोड़पति हैं। 59 साल के शिव सिंह भरतपुर में करोड़पति हैं।
मेयर शिव सिंह लाल बत्ती की कार से एग्जामिनेशन सेंटर पर पहुंचे, हालांकि मेयर ने अपनी लाल बत्ती पर कैप लगा रखी थी। मेयर शिव सिंह लाल बत्ती की कार से एग्जामिनेशन सेंटर पर पहुंचे, हालांकि मेयर ने अपनी लाल बत्ती पर कैप लगा रखी थी।
शिव सिंह 8वीं क्लास पास है। शिव सिंह 8वीं क्लास पास है।

Related Stories

Click to listen..