--Advertisement--

अगर छोटी-छोटी बातें भी भूल जाते हैं तो बिना दवाई मैमोरी बढ़ा सकते हैं ये 6 तरीके

पढ़ाई से लेकर कॅरिअर की रेस में अच्छी याददाश्त भी आपकी परफॉर्मेंस को बेहतर बनाती है।

Danik Bhaskar | Mar 09, 2018, 04:00 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. पढ़ाई से लेकर कॅरिअर की रेस में अच्छी याददाश्त भी आपकी परफॉर्मेंस को बेहतर बनाती है। वहीं खराब मेमोरी का असर सीधे आपकी प्रॉडक्टिविटी पर पड़ता है। ऐसे में हार्वर्ड और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के अध्ययन में खोजे गए ये 6 स्मार्ट टिप्स आपकी मेमोरी को बूस्ट करने में काम आ सकते हैं।

डूडलिंग करें

नाइकी के सीईओ मार्क पार्कर मीटिंग्स के दौरान डूडलिंग करते हैं। इससे वे खुद को ज्यादा एक्टिव महसूस करते हैं। दरअसल डूडलिंग के जरिए ड्राॅइंग करते रहना मस्तिष्क को सक्रिय बनाए रखता है। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के एक शोध में कुछ प्रतिभागियों को डूडलिंग करते वक्त कुछ बातें कही गईं और कुछ प्रतिभागियों से उस वक्त बात की गई जब वे डूडलिंग नहीं कर रहे थे। रिसर्च में पाया गया कि डूडलिंग करने वाले लोग 29 फीसदी ज्यादा याद रख पाए थे।

ब्रेन वर्कआउट

याददाश्त तेज करने और मस्तिष्क को स्वस्थ बनाए रखने के लिए ब्रेन वर्कआउट बहुत जरूरी है। इसके लिए काम के बीच में सुडोकू और क्राॅसवर्ड पजल सॉल्व करें। मनोरंजन के साथ ही प्रॉडक्टिविटी बढ़ाने के लिए यह परफेक्ट ब्रेन बूस्टर टेक्निक है।

हर दिन कुछ नया सीखें

मस्तिष्क को एक्टिव रखने और याददाश्त तेज करने के लिए हर थोड़े समय में नई स्किल्स या नई भाषा सीखें। इसके लिए कोई ऑनलाइन कोर्स जॉइन कर सकते हैं। चाहें तो हर दिन कुछ नया सीखने के लिए यूट्यब वीडियोज की मदद लें।

माइंड मैपिंग

यह याद रखने का सबसे अच्छा तरीका है। माइंड मैपिंग यानि जो भी आपने पढ़ा, देखा या समझा है उसे डायग्राम या फ्लोचार्ट के रूप में पेपर पर उतार लीजिए। अब इसे याद रखने के लिए आपको ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ेगी।

मुश्किल टास्क

टेक्नोलॉजी ने अब कामों को आसान बना दिया है। लेकिन रिसर्च बताते हैं, जितना ज्यादा हम दिमाग को मुश्किल टास्क देते हैं उतनी ही याददाश्त बेहतर होती है। जब भी कोई इक्वेशन सॉल्व करनी हो तो कैलकुलेटर के बजाय पेपर, पेन का इस्तेमाल करें। लॉन्ग ड्राइव पर निकले हैं तो जीपीएस के बजाय खुद रास्ते खोजें। दिमाग को ऐसे मुश्किल टास्क देना आपकी मेमोरी को तेज बनाएगा।