Hindi News »Self-Help »Knowledge» How To Avoid Exam Mistakes : Tips For Student

​एग्जाम के आखिरी दिनों में स्टूडेंट बचें इन 5 गलतियों से

कई स्टूडेंट्स मेहनत तो करते हैं, लेकिन कुछ गलतियों की वजह से उनका रिजल्ट अपनी अपेक्षाओं के अनुरूप नहीं आता है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 01, 2018, 06:22 PM IST

​एग्जाम के आखिरी दिनों में स्टूडेंट बचें इन 5 गलतियों से

एजुकेशन डेस्क।कई स्टूडेंट्स मेहनत तो करते हैं, लेकिन कुछ गलतियों की वजह से उनका रिजल्ट अपनी अपेक्षाओं के अनुरूप नहीं आता है। हम यहां ऐसी ही 5 मिस्टेक्स के बारे में बता रहे हैं जो अक्सर स्टूडेंट्स कर बैठते हैं :


1. प्रायोरिटी की बजाय क्रोनालॉजिकल ऑर्डर में स्टडी करना :
एग्जाम के आखिरी दिनों में यह उतना मायने नहीं रखता कि आप कितना पढ़ रहे हैं, बल्कि यह ज्यादा मायने रखते हैं कि आप कैसे पढ़ रहे हैं। कई स्टूडेंट्स प्रायोरिटीवाइज पढ़ाई नहीं करके क्रोनालॉजिकल ऑर्डर में स्टडी करने लगते हैं। इससे वे उन टॉपिक्स को अच्छे या पढ़ ही नहीं पाते जिनमें से ज्यादा सवाल आते हैं।


2. सेल्फ स्टडी नहीं करना
कई स्टूडेंट्स मानते हैं कि स्कूल या ट्यूशन अटेंड करने से परीक्षा के लिए उनकी तैयारी अपने आप होती रहेगी। इस सोच के चलते वे सेल्फ स्टडी नहीं कर पाते हैं। टीचर या ट्यूटर से पढ़ने से समय ज्यादा खर्च होता है। जबकि आप घर पर सेल्फ स्टडी करके कम समय में ज्यादा पढ़ाई कर सकते हैं।


3.किसी दूसरे की स्टडी स्टाइल की कॉपी करना :
आप जिस तरीके से पढ़ते आ रहे हैं, एग्जाम प्रीपरेशन के आखिरी दिनों में भी उसी पर बने रहें। अपने किसी टॉपर फ्रेंस के तरीके की नकल करना भारी पड़ सकता है। इसका आप डी-फोकस हो सकते हैं और इसका असर आपके नतीजों पर पड़ सकता है। यह ध्यान रखना चाहिए कि हर छात्र का पढ़ने व सीखने का तरीका अलग होता है। अगर किसी खास तरीके से आपके दोस्त को सक्सेस मिली है तो इसका यह मतलब नहीं कि उसी तरीके से आप भी सफल होंगे ही।

4.पिछले सालों के पेपर्स का एनालिसिस नहीं करना :
कई स्टूडेंट्स बस अपनी धुन में पढ़ते जाते हैं। वे कई बार यह भी नहीं देखते कि पिछले सालों की एग्जाम में किस तरह के पेपर्स आए थे। पिछले सालों के पेपर्स से उन्हें यह इनसाइट मिल सकता है कि सवाल किस तरह के पूछे जाते हैं। इससे उन्हें अपनी स्टडी को प्लान करमें मदद मिल सकती है।


5.ज्यादा याद करने के फेर में रिविजन नहीं करना :
कई स्टूडेंट्स ज्यादा से ज्यादा पढ़ने के फेर में रहते हैं। उन्हें डर रहता है कि उनका कोई सवाल छूट नहीं जाए। इस चक्कर में वे रिविजन नहीं कर पाते हैं। ऐसे में उन सवालों के भी वे प्रॉपर तरीके से उत्तर नहीं लिख पाते हैं जो उन्हें आते थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Knowledge

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×