Hindi News »Self-Help »Knowledge» Surprising Facts About The Atomic Bomb Attacks On Japan

FACTS: हिटलर को रोकने आइंस्टीन ने दिया था एटम बम बनाने का सुझाव

आज से ठीक 71 साल पहले यानी 9 अगस्त, 1945 को अमेरिका ने जापान के नागासाकी शहर पर परमाणु बम गिराया था।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Aug 09, 2016, 12:05 AM IST

एजुकेशन डेस्क।आज से ठीक 71 साल पहले यानी 9 अगस्त, 1945 को अमेरिका ने जापान पर दूसरा परमाणु हमला किया था। इस बार बारी थी नागासाकी की। इससे तीन दिन पहले वो हिरोशिमा पर भी परमाणु बम से तबाही मचा चुका था। इस हमले के बाद जापानी सेना ने सरेंडर कर दिया और वर्ल्ड वार 2 भी खत्म हो गया। आज से सात दशक बाद यह जानकर आश्चर्य होगा कि जिस एटम बम से पूरी दुनिया थर्रा गई, उसे बनाने का सुझाव महान साइंटिस्ट अल्बर्ट आइंस्टीन ने दिया था। हालांकि उनकी मंशा दुनिया की बेहतरी थी, तबाही नहीं। ऐसा उन्होंने हिटलर की ताकत को रोकने के लिए किया था। आइंस्टीन को थी ये आशंका ...
इसलिए दिया था सुझाव...
अमेरिका को अल्बर्ट आइंस्टीन ने एटम बम बनाने का सुझाव ये कहकर दिया था कि हिटलर के पतन के लिए परमाणु हथियार की जरूरत होगी। उन्होंने ये आशंका भी जताई थी कि अगर अमेरिका ये बम नहीं बनाएगा तो हिटलर बना लेगा, जो पूरी दुनिया के लिए ज्यादा घातक होगा। हम यहां बता दें कि भले ही आइंस्टीन ने अमेरिका को एटम बम बनाने का सुझाव दिया, लेकिन इसके प्रोजेक्ट से वे कोसों दूर रहे। आज नागासाकी डे के मौके पर हम आपको बता रहे हैं परमाणु बम से जुड़े कुछ रोचक फैक्ट्स।
अन्य फैक्ट्स को पढ़ने के लिए आगे की स्लाइड्स पर क्लिक करें...
(कैसे याहू की गलतियों से आप सीख सकते हैं? जानने के लिए आखिरी स्लाइड पर क्लिक करें...)
India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Surprising Facts About the Atomic Bomb Attacks on Japan
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Knowledge

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×