--Advertisement--

सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा – 2016 की टेस्ट सीरीज (भारतीय इतिहास एवं संस्कृति)

नई दिल्ली। सिविल सर्विसेज (प्री) की हमने टेस्ट सीरीज शुरू की है। इस सीरीज में सिविल सेवा परीक्षा स्ट्रेटजी एक्सपर्ट डॉ. प्रदीप कुमार आज दे रहे हैं भारतीय इतिहास एवं संस्कृति से जुड़े सवाल। इनके जवाब सबसे अंत में दिए गए हैं :

Danik Bhaskar | Jul 19, 2016, 03:19 PM IST
नई दिल्ली। सिविल सर्विसेज (प्री) की हमने टेस्ट सीरीज शुरू की है। इस सीरीज में सिविल सेवा परीक्षा स्ट्रेटजी एक्सपर्ट डॉ. प्रदीप कुमार आज दे रहे हैं भारतीय इतिहास एवं संस्कृति से जुड़े सवाल। इनके जवाब सबसे अंत में दिए गए हैं :
1 संस्कृति के बारे में कौन से/सा कथन सत्य है/हैं -
1. संस्कृति शब्द संस्कृत की ‘‘कृ’’ धातु से बना है जिसका मतलब ‘‘करने’’ से है।
2. संस्कृति परिष्करण की अंतिम सीमा है जिसका अंतिम उत्पाद प्रषंसा व सम्मान प्राप्त करता है।
कूट -
(अ) केवल 1 (ब) केवल 2
(स) 1 तथा 2 दोनो (द) न तो 1 और न ही 2
2 निम्नलिखित में से सही सुमेलित है -
1. शीष गंज गुरुद्वारा - दिल्ली
2 लाल किला - आगरा
3 क्रिष्चियन चर्च - केरल
(अ) 1 और 2 (ब) केवल 1
(स) 1, 2 और 3 (द) 2 और 3
3 निम्नलिखित कथनो में असत्य कथन है -
(अ) संस्कृति कभी स्थिर नही होती ये हमेषा परिवर्तित होती रहती है।
(ब) संस्कृति स्थिर रहती है लेकिन सभ्यता परिवर्तित रहती है।
(स) संस्कृति और सभ्यता दोनो का स्वभाव परिवर्तन का है।
(द) इनमें से कोई नहीं
4 निम्न कथनों पर विचार कीजिए -
1. भारत में सलवार व कुर्ता कुषाणों व पार्थियनों की देन है
2. दूसरी शताब्दी से पूर्व भारतीय बिना सिले हुए कपडे पहना करते थे
3. आधुनिक पोषाकें जैसे पेंट, शर्ट और स्कर्ट सोलहवीं शताब्दी में यूरोपियो द्वारा लाई गई।
निम्न में से कौन से/सा कथन सत्य है/हैं -
(अ) 1 और 2 (ब) 1, 2 और 3
(स) केवल 3 (द) 2 और 3
5 निम्न मेें से सही सुमेलित है -
क्षैत्र संबंधित कार्य
(प) उडीसा पटोला
(पप) बंगाल कांठा
(पपप) लखनऊ चिकनकारी
(अ) प - पप. (ब) प - पपप (स) पप - पपप (द) पए पप - पपप
6 कथनों पर विचार कीजिए -
1. वैदिक काल को दो भागों में विभाजित किया गया है पूर्व वैदिक काल व उत्तर वैदिक काल
2. पूर्व वैदिक काल चारो वेदों का प्रतिनिधित्व करता है और उत्तर वैदिक काल ब्राम्हण, अरण्यक और उपनिषदों का प्रतिनिधित्व करता है
निम्न में से सत्य है/हैं -
कूट
(अ) केवल 1 (ब) केवल 2
(स) 1 व 2 दोनो (द) न तो 1 और न ही दो
7 निम्न कथनों पर विचार कीजिए -
1. अनेक परिवार समूह मिलकर ‘‘विष’’ का निर्माण करते थे।
2. नारियों की स्थिति शोचनीय थी।
3. राजन् की सहायता ‘‘सभा’’ व ‘‘समीति’’ के सदस्य प्रषासन को चलाने में किया करते थे।
निम्न में से वैदिक सभ्यता के बारे में असत्य कथन है-
(अ) केवल 2 (ब) 1 और 2
(स) 2 और 3 (द) 1, 2 और 3
8 निम्न में से सत्य कथन है-
(अ) ऋग्वेदिक काल में सती प्रथा प्रचलित थी।
(ब) चतुराश्रम व्यवस्था ऋग्वेदिक समाज में व्याप्त सभी के लिए थी।
(स) ऋग्वेदिक ऋचाओं में सर्वाधिक इंद्र तथा इंद्र के बाद अग्नि की प्रषंसा की गई है
(द) सभी कथन गलत हैं।
9 निम्न कथनों पर विचार करें -
(प) सूफियों ने धन के प्रदर्षन तथा उलेमाओं द्वारा शासकों की सेवा का विरोध किया
(पप) आईने अकबरी में 14 सूफी सिलसिलों का उल्लेख किया गया है।
सत्य कथन है/हैं -
(अ) केवल ;पद्ध (ब) केवल ;पपद्ध
(स) ;पद्ध और ;पपद्ध (द) न ;पद्ध और न ;पपद्ध
10 निम्न कथनों पर विचार कीजिए -
1. जैन धर्म के प्रथम तीर्थांकर ऋषभदेव थे।
2. जैन धर्म कठोर तप और वैराग्य पर बल देता है।
3. पांचवी प्रतिज्ञा ‘‘ब्रम्हचर्य’’ का पालन पाष्र्वनाथ ने जोडी।
जैन धर्म के सम्बन्ध में सत्य है/हैं -
(अ) केवल 3 (ब) 1 और 2
(स) 2 और 3 (द) 1, 2 और 3
11 निम्न कथनों पर विचार कीजिए -
1. मौर्य साम्राज्य ‘‘राज्यपालों (क्षत्रप)’’ का पद इखामनी साम्राज्य के पद ‘‘सत्र्रप’’ से प्रभावित था।
2. फारसी लेखक भारत में ‘‘खरोष्ठी’’ लिपि लेकर आये।
3. अषोक के पत्थर के अभिलिख इखामनी साम्राज्य से मिलते जुलते हैं।
सत्य कथन है/हैं -
(अ) केवल 2 (ब) 1 और 2
(स) 1 और 3 (द) 1, 2 और 3
12 मकदूनिया साम्राज्य है -
(अ) ईराक का (ब) ईरान का
(स) अफगानिस्तान का (द) यूनान का
13 किस षिलालेख में अषोक यह कहता है कि ‘‘अच्छी विजय वही है जो दया व गुणों से प्राप्त की जाऐ’’
(अ) 10वें (ब) 13वें
(स) 14वें (द) 8वें
14 ईसापूर्व पहली शताब्दी के समय कौन से/सा बन्दरगाह पूर्वी तट पर था -
(प) मामल्लपुरम् (पप) ताम्रलिप्ति
(पपप) भेरु गाजा
कूटः-
(अ) केवल ;पद्ध (ब) ;पद्ध और ;पपद्ध
(स) केवल ;पपपद्ध (द) ;पद्ध और ;पपपद्ध
15 निम्न कथनों पर विचार कीजिए -
1. अषोक ने ‘‘धम्म महात्म्य’’ नामक अधिकारी नियुक्त किये जो जनता के कल्याण के कार्यो की देखभाल करते थे।
2. धम्म महात्म्य देष के दूर दराज के इलाकों या प्रांतो में भी कार्य किया करते थे।
3. अषोक ने अपनी प्रजा को अपनी संतान कहा है।
4. अषोक ने अपनी प्रजा को कर्मकाण्ड के विषय में समझाने की कोषिष भी की थी।
सत्य कथन हैं-
(अ) 1, 2 और 3 (ब) 2, 3 और 4
(स) 1, 3 और 4 (द) 1, 2, 3 और 4
जवाब :
1 (स) 2 (अ) 3(ब) 4(अ) 5 (द) 6(अ) 7(ब) 8(स) 9(स) 10(ब) 11(द) 12(द) 13(ब) 14(ब) 15(द)
यह भी पढ़ें...

Related Stories