Hindi News »Self-Help »Knowledge» Controversies On The Entry Of Police Into The Universities

JNU व HU से खड़े हुए सवाल, यूनिवसिटीज में पुलिस प्रवेश पर विवाद क्यों?

विश्वविद्यालयों में पुलिस के प्रवेश को लेकर नए सिरे से बहस छिड़ी है। कानून के जानकार इसे जायज बता रहे हैं तो शिक्षाविद् गैरजरूरी।

bhaskar news | Last Modified - Feb 28, 2016, 11:36 AM IST

  • मौजूदा समय में विश्वविद्यालयों में पुलिस के प्रवेश को लेकर नए सिरे से बहस छिड़ी है। कानून के जानकार इसे जायज बता रहे हैं तो शिक्षाविद् गैरजरूरी। वहीं राजनीतिक दल अपनी सहूलियत के हिसाब से परिपाटी को तोड़ने और अमल में लाने की वकालत कर रहे हैं।

    जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में पिछले कई दिनों से चल रहे प्रकरण के दौरान पुलिस की भूमिका को लेकर लगातार सवाल उठते रहे हैं। इस दौरान सबसे ज्यादा चर्चा हुई विश्वविद्यालय में पुलिस के प्रवेश को लेकर। एक ओर पुलिस देशविरोधी नारों के विरोध में कैंपस से कन्हैया कुमार को तो पकड़ लाई, लेकिन बाद में दूसरे आरोपियों को पकड़ने के दौरान यह कहने लगी कि जेएनयू प्रशासन ने विश्वविद्यालय में प्रवेश की अनुमति नहीं दी।
    सवाल उठना लाजिमी है कि सबूतों का दावा करने वाली पुलिस आखिरकार जेएनयू कैंपस में क्यों नहीं जा पाई। क्या विश्वविद्यालय में पुलिस के प्रवेश को लेकर कोई बंदिश है या फिर कोई अन्य कारण। साथ ही पुलिस के प्रवेश को लेकर यह ऊहापोह महज जेएनयू तक ही सीमित है या फिर देश के दूसरे विश्वविद्यालय भी इसकी जद में आते हैं।
    आगे की स्लाइड्स अपने-अपने कारण और तर्क, प्रवेश को लेकर, प्रवेश न करने को लेकर, महज एक परिपाटी, प्रतिष्ठा पर सवाल, 4 भागों में बंटीं हैं भारतीय यूनिवर्सिटीज...​
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Knowledge

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×