Hindi News »Self-Help »Knowledge» Guaranteed Jobs After Hardware And Networking Courses

इन कोर्सेस से बना सकते हैं करियर, मिलेगी 5 से 10 लाख रुपए की नौकरी

लाइफ में सक्सेस पाने के लिए सही वक्त पर सही डिसीजन बहुत जरूरी होता है। खासकर 12th के बाद स्टूडेंट्स किस फील्ड में आगे बढ़ रहा है, ये काफी मायने रखता है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jul 14, 2016, 12:05 AM IST

  • एजुकेशन डेस्क। लाइफ में सक्सेस पाने के लिए सही वक्त पर सही डिसीजन बहुत जरूरी होता है। खासकर 12th के बाद स्टूडेंट्स किस फील्ड में आगे बढ़ रहा है, ये काफी मायने रखता है। सॉफ्यवेयर कंपनी द नेशनल एसोसिएशन ऑफ सॉफ्टवेयर एंड सर्विसेस कंपनीज (NASSCOM) का मानना है कि IT सेक्टर इन दिनों सीधे तौर पर 3.5 मिलियन और अन्य माध्यमों से 10 मिलियन से ज्यादा लोगों को रोजगार दे रहा है। यानी IT सेक्टर में आगे बढ़ते हैं तो कामयाबी के चांस ज्यादा हैं। IT में भी क्या चुनें...
    इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (IT) की फील्ड दो हिस्से सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर में डिवाइड है। ऐसे में इस फील्ड में करियर बनाने या आगे बढ़ने से पहले ये तय करना बहुत जरूरी है कि स्टूडेंट्स के लिए क्या बेहतर ऑप्शन है।
    सॉफ्टवेयर की फील्ड :
    - प्रोग्रामिंग
    - ऐप डेवलपर
    - सॉफ्टवेयर डेवलपर
    हार्डवेयर की फील्ड :
    - हार्डवेयर
    - नेटवर्किंग
    सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर में जमीन-आसमान जितना अंतर हैं। ऐसे में इन फील्ड में आगे बढ़ने से पहले ये बात साफ होना चाहिए कि स्टूडेंट क्या बेहतर कर सकता है। हालांकि, जॉब गारंटी दोनों में दूसरी फील्ड से कई गुना ज्यादा है। सर्वे के मुताबिक 2020 तक IT फील्ड में जॉब्स के चांस 100% होने वाले हैं।
    आगे की स्लाइड्स पर जानिए सॉफ्टवेयर से जुड़े जॉब्स और सैलरी के बारे में...
  • सॉफ्टवेयर फील्ड में कई जॉब्स होते हैं। इनमें ज्यादातर के लिए प्रोग्रामिंग की नॉलेज होना जरूरी है। इसके लिए स्टूडेंट्स के पास BE कंप्यूटर साइंस, B.Tech, BE IT, MCA, BIT की डिग्री या लैंग्वेज कोर्सेस का डिप्लोमा होना चाहिए।
    1. फ्रंट-एंड डेवलपर
    ईयरली पैकेज : लगभग 6 लाख रुपए तक
    2. सॉफ्टवेयर डेवलपर
    ईयरली पैकेज : 6.25 लाख रुपए तक
    3. UI/UX डिजाइनर्स
    ईयरली पैकेज : 6.50 लाख रुपए तक
    4. JAVA डेवलपर
    ईयरली पैकेज : 6.70 लाख रुपए तक
    5. सॉफ्टवेयर इंजीनियर
    ईयरली पैकेज : 6.80 लाख रुपए तक
    सॉफ्टवेयर से जुड़े जॉब्स और सैलरी के बारे में आगे की स्लाइड पर जानिए...
  • 6. मोबाइल डेवलपर
    ईयरली पैकेज : 6.80 लाख रुपए तक
    7. डेटाबेस इंजीनियर
    ईयरली पैकेज : 6.80 लाख रुपए
    8. मोबाइल इंजीनियर
    ईयरली पैकेज : 7.20 लाख रुपए
    9. डेवॉप्स
    ईयरली पैकेज : 7.40 लाख रुपए
    10. सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट
    ईयरली पैकेज : 8 लाख रुपए
    आगे की स्लाइड पर जानिए हार्डवेयर से जुड़े जॉब्स और सैलरी के बारे में...
  • हार्डवेयर दो पार्ट हार्डवेयर और नेटवर्किंग में डिवाइड है। हार्डवेयर में कम्प्यूटर, मोबाइल या किसी अऩ्य इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट और उसके पार्ट्स की मैन्युफैक्चरिंग की जाती है।
    - मदरबोर्ड
    - रैम
    - हार्ड डिस्क
    - प्रोसेसर
    - सर्किट बोर्ड
    - मॉडेम या अन्य पार्ट्स।
    हार्डवेयर में दो तरह की जॉब होती है। एक जो ये पार्ट्स मैन्युफैक्चर करते हैं और दूसरे जो इन्हें रिपेयर करते हैं। यदि आप मैन्युफैक्चरिंग को बेहतर समझते हैं तो इस यूनिट के किसी भी हिस्से से जुड़ जाते हैं तब इसमें 4 से 5 लाख रुपए में शुरुआती पैकेज मिल सकता है। वहीं, इस प्रोफेशन में जल्दी ही सैलरी 15 से 20 लाख रुपए ईयरली या उससे भी कहीं ज्यादा हो जाती है। दूसरी तरफ, जो लोग रिपेयरिंग का काम करते हैं वो भी आसानी से 40 से 50 हजार रुपए महीना कमा लेते हैं।
    आगे की स्लाइड्स पर जानिए नेटवर्किंग से जुड़े जॉब्स और सैलरी के बारे में...
    सोर्स : payscale
  • दो या उससे ज्यादा कम्प्यूटर्स, प्रिंटर, सर्वर या अन्य किसी डिवाइस को आपस में जोड़ना नेटवर्किंग कहलाता है। नेटवर्किंग का सेक्टर लगातार बढ़ रहा है। छोटे ऑफिस से लेकर मल्टी नेशनल कंपनी, स्कूल, कॉलेज, गवर्नमेंट सेक्टर सभी जगह नेटवर्किंग का काम होता है। ऐसे में इस सेक्टर में जॉब के चांसेस कई गुना बढ़ जाता है।
    शुरुआत में नेटवर्किंग जॉब्स में 5 से 6 लाख रुपए का ईयरली पैकेज आसानी से मिल जाता है। और जैसे-जैसे नेटवर्किंग का एक्सपीरियंस बढ़ता जाता है इसमें ईयरली पैकेज 10 से 15 लाख तक पहुंच जाता है। ये हैं नेटवर्किंग की जॉब्स।
    - कम्प्यूटर / नेटवर्क सपोर्ट टेक्निशियन
    - इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (IT) मैनेजर
    - नेटवर्क एडमिनिस्ट्रेटर
    - नेटवर्क इंजीनियर, IT
    - नेटवर्क स्पेशलिस्ट
    - नेटवर्क सपोर्ट इंजीनियर
    - सीनियर नेटवर्क इंजीनियर
    - सिस्टम इंजीनियर (कम्प्यूटर नेटवर्किंग / IT)
    आगे की स्लाइड पर जानिए कहां से कर सकते हैं सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के कोर्सेस...
    सोर्स : payscale
  • सॉफ्टवेयर की पढ़ाई के लिए B.Tech, BE, BCA, BIT और इनकी मास्टर्स डिग्री के साथ कई लैंग्वेज कोर्सेस के डिप्लोमा भी होते हैं। कम्प्यूटर साइंस और इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी की पढ़ाई में प्रोग्रामिंग सिखाई जाती है। दूसरी तरफ, हार्डवेयर को लेकर फिलहाल कोई डिग्री कोर्स नहीं है। हालांकि, कई इंस्टीट्यूट 6 महीने और 1 साल का डिप्लोमा कोर्स कराते हैं। इनमें हार्डवेयर के साथ नेटवर्किंग की पढ़ाई भी होती है।
    नेटवर्किंग के कोर्सेस :
    - सर्टिफिकेट कोर्स
    - इंटरनेशनल सर्टिफिकेशन
    - हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग डिप्लोमा
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Knowledge

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×