Hindi News »Self-Help »Knowledge» How Indian Citizens Get An H-1B Visa Work Permit? 16 Common Things To Know About Visas

किसे मिलता है H 1B वीजा? यहां जानिए वीजा से जुड़ी पूरी डिटेल

अमेरिका में एच-1 बी और एल-1 वर्क वीजा के गलत इस्तेमाल को रोकने के लिए सख्त कदम उठाने की तैयारी की जा रही है। प्रेसीडेंट डोनाल्ड ट्रम्प ने पद संभालते ही इस पर काम शुरु कर दिया है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jan 21, 2017, 11:16 AM IST

  • नॉलेज डेस्क।अमेरिका में एच-1 बी और एल-1 वर्क वीजा के गलत इस्तेमाल को रोकने के लिए सख्त कदम उठाने की तैयारी की जा रही है। प्रेसीडेंट डोनाल्ड ट्रम्प ने पद संभालते ही इस पर काम शुरू कर दिया है। उनकी टीम वीजा से जुड़े नियमों में संशोधन की तैयारी कर रही है। एच-1 बी वीजा का इंडियन आईटी प्रोफेशनल्स बड़ी संख्या में इस्तेमाल करते हैं। हम बता रहे हैं एच-1 बी वीजा होता क्या है और किसलिए यह जारी किया जाता है।

    H-1B वीजा से जुड़े सवाल-जवाब
    >किन्हें जारी किया जाता है?
    एच 1 बी वीजा आमतौर पर उन लोगों के लिए जारी किया जाता है,जो किसी खास पेशे(जैसे-आईटी प्रोफेशनल,आर्किट्रेक्टचर,हेल्थ प्रोफेशनल आदि)से जुड़े होते हैं।
    >क्या होनी चाहिए मिनिमम क्वालिफिकेशन?
    इसके लिए आवेदक को कम से कम बैचलर होना जरूरी होता है।
    >कितने साल के लिए जारी होता है?
    वीजा 6 साल के लिए जारी किया जाता है। बाद में इसके एक्सटेंशन का भी प्रावधान है।
    >क्या किसी को भी मिल सकता है वीजा?
    नहीं। ऐसे प्रोफेशनल्स जिन्हें जॉब ऑफर होती है उन्हें ही ये वीजा मिल सकता है। यह पूरी तरह से एम्पलॉयर पर डिपेंड करता है। यानि अगर एम्पलॉयर नौकरी से निकाल दे और दूसरा एम्पलॉयर ऑफर न करे तो वीजा खत्म हो जाएगा।
    >वीजा को लेकर भारत में चिंता क्यों हैं?
    दुनियाभर में एच1बी वीजा रखने के मामले में सबसे ज्यादा संख्या भारतीयों की है। वॉशिंगटन से जारी किए गए एच1बी वीजा में करीब 70 फीसदी वीजा भारतीयों ने लिए हैं।

    >एल-1बी वीजा क्या होता है?
    इसके तहत कंपनियों को एंप्लॉइज को कम से कम एक साल के लिए अमेरिका भेजने की अनुमति होती है। ये ऐसे लोगों को दिया जाता है जो वहां स्थायी तौर पर रहने नहीं जाते।
    आगे की स्लाइड्स में जानिए कितने तरह के होते हैं वीजा…
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Knowledge

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×