--Advertisement--

IGNOU ने 7 साल बाद दोगुना बढ़ाया परीक्षा शुल्क, अगले सत्र से होगी लागू

पहले एक पेपर के लिए 60 रुपए फीस देनी होती थी, अब नई बढ़ोत्तरी के बाद 120 रुपए की राशि जमा करनी होगी।

Danik Bhaskar | Mar 13, 2016, 12:29 PM IST
नई दिल्ली. इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (IGNOU) ने 7 साल बाद अब अगले सत्र में होने वाली परीक्षा के लिए परीक्षा शुल्क बढ़ा दी है। पहले एक पेपर के लिए 60 रुपए फीस देनी होती थी, अब नई बढ़ोत्तरी के बाद 120 रुपए की राशि जमा करनी होगी।
इग्नू के पास परीक्षा कराने के लिए कोई ढांचा नहीं है। उसे सरकारी और निजी संस्थानों पर निर्भर रहना पढ़ता है। पर्यवेक्षकों के मानदेय में वृद्धि की गई है। यह वजह भी परीक्षा शुल्क में बढ़ोतरी का कारण हो सकती है। पहले इग्नू परीक्षाओं के लिए इन संस्थानों को प्रति सीट 10 रुपए देने होते थे, लेकिन अब परीक्षा केंद्रों ने इसे शुल्क को बढ़ाकर 20 रुपए कर दिए हैं।
पहले छात्र बीए की ग्रैजुएट डिग्री के लिए 1 साल के लिए 300 रुपए फीस देते थे, लेकिन अब उन्हें 600 रुपए फीस देना होगी। पिछले वर्ष नवंबर में यूनिवर्सिटी की फाइनेंस कमेटी की 87 वीं मीटिंग में फीस को रिवाइज करने की सिफारिश की गई थी। 23 जनवरी को बोर्ड प्रबंधन की 124वीं बैठक परीक्षा फीस में वृद्धि के फैसले पर अंतिम स्वीकृति दी गई।
इग्नू के सभी रीजनल सेंटर्स ने अपने अधीनस्थ सभी सेंटरों की जून के सेशन से नई फीस वृद्धि लागू करने के निर्देश दिए हैं। बढ़ी हुई फीस की दरों के बारे में सभी स्टडी सेंटर्स को जानकारी दे दी गई है।
इग्नू की जून में होने वाली परीक्षाओं को फार्म भरे जा रहे हैं। अप्लाई करने की लास्ट डेट 31 मार्च है। हर पेपर के लिए उम्मीदवारों को 120 रुपए फीस जमा करानी होगी।

Related Stories

Related Stories