Hindi News »Self-Help »Knowledge» IIT OK Fee Hike, Tuition Fees MAY From Rs 90,000 To Rs 3 Lakh Rs. For UG Students

आईआईटी की फीस 90 हजार से बढ़कर हो सकती है तीन लाख रुपए

संसदीय समिति ने मंत्रालय को भेजी सिफारिश, फैसला मानव संसाधन विकास स्मृति के हाथ में(

dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 18, 2016, 09:52 AM IST

नई दिल्ली. आईआईटी की स्थायी समिति ने देश के प्रमुख प्रौद्योगिकी प्रशिक्षण संस्थानों की सालाना फीस तीन गुना से ज्यादा बढ़ाने की सिफारिश की है। मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने इसे मंजूरी दी तो फीस 90 हजार रुपए से बढ़कर तीन लाख रुपए सालाना हो जाएगी।

-आईआईटी परिषद की स्थायी समिति (एससीआईसी) ने एक अन्य महत्वपूर्ण सिफारिश नई प्रवेश परीक्षा को लेकर की है।
- इसमें नेशनल अथॉरिटी ऑफ टेस्ट की ओर से 2017 के बाद एप्टीट्यूड टेस्ट वाली नई प्रवेश परीक्षा कराने का सुझाव दिया है।
-इस पर भी ईरानी को अंतिम फैसला लेना है।
IIT बॉम्बे के डायरेक्टर की रिपोर्ट हुई मंजूर
- आईआईटी बॉम्बे के डायरेक्टर देवांग खाखड़ के नेतृत्व वाली उप-समिति की रिपोर्ट को एससीआईसी ने स्वीकार किया।
- खाखड़ की समिति ने ही फीस बढ़ाने की सिफारिश की है।
-समिति ने इस बात पर भी जोर दिया कि बिना गारंटी हर छात्र को बिना ब्याज कर्ज उपलब्ध कराया जाए।
IITs में अभी इतनी फीस
- IIT भुवनेश्वर- Rs.68,600 रु.
- IIT बॉम्बे- Rs.67,876 रु.
- IIT मंडी- Rs.62,300 रु.
- IIT दिल्ली- Rs.56,635 रु.
- IIT खड़गपुर- Rs.57,876 रु.
- IIT जोधपुर- Rs.68,750 रु.
- IIT कानपुर- Rs.66,517 रु.
- IIT मद्रास- Rs.54,927 रु.
- IIT गांधीनगर- Rs.62,600 रु.
- IIT पटना- Rs.60,250 रु.
- IIT रुड़की- Rs.63,820 रु.
- ISM धनबाद- Rs.49,842 रु.
- IIT रोपड़-Rs.58,650 रु.
- IIT(BHU) वाराणसी-Rs.66,200 रु.
- IIT गुवाहाटी- 56, 600 रु.
देश में अब 22 IITs
1- आईआईटी बॉम्बे
2- आईआईटी दिल्ली
3-आईआईटी भुवनेश्वर
4- आईआईटी कानपुर
5- आईआईटी इंदौर
6- आईआईटी खड़गपुर
7- आईआईटी मद्रास
8- आईआईटी गांधीनगर
9- आईआईटी (बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी)
10- आईआईटी गुवाहाटी
11- आईआईटी हैदराबाद
12- आईआईटी जोधपुर
13- आईआईटी मंडी
14- आईआईटी पटना
15- आईआईटी रुड़की
16- आईआईटी रोपड़
17- आईआईटी तिरुपति (नया)
18- आईआईटी छत्तीसगढ़ (नया)
19- आईआईटी गोवा (नया)
20- आईआईटी पालघाट (नया)
21- आईआईटी कर्नाटक (नया)
22- आईएसएम धनबाद को भी आईआईटी का दर्जा दे दिया गया है।
IITs में कितनी सीट?
- पहले 16 आईआईटी में 10 हजार सीट्स थीं।
- 6 नए इंस्टीट्यूट्स जुड़ने से 1080 बढ़ीं।
- अब आईआईटीज में कुल 11,080 सीटें हैं।
कैसे होता है आईआईटी में एडमिशन?
- पहला आईआईटी खड़गपुर में 1951 में खुला था। तब 12th के मार्क्स के बेसिस पर इंटरव्यू होते थे और देश में कहीं भी एडमिशन मिलता था।
- 1955-59 के बीच आईआईटी खड़गपुर ने एग्जाम लेना शुरु किया। इंटरव्यू/काउंसलिंग के बाद किसी ब्रांच में एडमिशन दिया जाता था।
- कॉमन IIT-JEE एग्जाम 1960 से शुरू हुआ। इसमें इंग्लिश लैंग्वेज मिलाकर 4 सब्जेक्ट्स के पेपर होते थे।
- 1997 में IIT-JEE एग्जाम साल में दो बार होने लगा। इसकी वजह कुछ सेंटर्स में पेपर लीक होना बताया गया था।
- 2006 से एक ऑब्जेक्टिव टाइप का प्रिलिमनरी एग्जाम कर दिया गया। इसमें पास होने वाले कैंडिडेट्स को मेन्स देना होता है।
- एग्जाम में बैठने वाले जनरल कैटेगरी के बच्चे को 12th में 60% और रिजर्व कैटेगरी के बच्चों को 55% मार्क्स लाने होते हैं।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Knowledge

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×