Hindi News »Self-Help »Knowledge» Govt Sets New Rules For M.Phil And PhD Degrees

M.Phil और PhD के लिए बनाए गए नए नियम, महिलाओं को ऐसे फायदा

यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (UGC) ने PhD के नियमों में बदलाव किया है। अब दो साल में M.Phil और छह साल में PhD पूरी करनी अनिवार्य होगा।

dainikbhaskar.com | Last Modified - May 26, 2016, 02:33 PM IST

एजुकेशन डेस्क।यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (UGC) ने PhD के नियमों में बदलाव किया है। अब दो साल में M.Phil और छह साल में PhD पूरी करनी अनिवार्य होगा। महिलाओं को PhD के दौरान 240 दिन की पैटरनिटी लीव और बच्चों की देखभाल के लिए छुट्टियां मिलने की अधिसूचना जारी कर दी गई है। इन सभी फैसलों के बारे में उच्च शिक्षा सचिव विनयशील ऑबेरॉय और यूजीसी के चेयरमैन वेदप्रकाश ने जानकारी दी।
उन्होंने कहा कि महिलाओं को एमफिल के लिए एक साल और पीएचडी के लिए दो साल का अतिरिक्त समय मिल सकेगा। बीच में उन्हें एक संस्थान से दूसरे संस्थान में क्रेडिट ट्रांसफर की सुविधा भी होगी। इसके अलावा पीएचडी के लिए प्रोफेसरों और असिस्टेंट प्रोफेसरों की संख्या को भी लचीला बनाया गया है। यूजीसी ने 2009 से पहले पीएचडी करने वालों को भी शिक्षक नियुक्त किए जाने की अधिसूचना जारी कर दी है। इनके लिए कुछ शर्तें लगाई गई हैं, जैसे पीएचडी नियमित होनी चाहिए। बाहरी विशेषज्ञों की ओर से उसकी जांच की गई हो।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Knowledge

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×