--Advertisement--

BHU की तर्ज पर ABVHU के छात्र धोती-कुर्ता और छात्राएं साड़ी में लेंगे डिग्री

Dainik Bhaskar

Feb 28, 2016, 11:14 AM IST

बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी की तर्ज पर अटल बिहारी वाजपेयी हिन्दी विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह होगा।

प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
भोपाल. बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी की तर्ज पर अटल बिहारी वाजपेयी हिन्दी विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह होगा। इसमें उपाधि प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राएं भारतीय परिधान में नजर आएंगे। बोनेट, हुड और गाउन के स्थान पर छात्र धोती-कुर्ता-साफा पहनेंगे, छात्राएं साड़ी और साफे में नजर आएंगी।
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर भोपाल में हिन्दी यूनिवर्सिटी की स्थापना की गई है। दिसंबर 2011 से शुरू हुए विश्वविद्यालय का पहला दीक्षांत समारोह अगस्त 2016 में होने के आसार हैं। इस समारोह में यूनिवर्सिटी से स्नातक और स्नातकोत्तर डिग्री का पहला बैच निकलेगा। विभिन्न संकायों में यहां से सफल होने वाले लगभग 150 विद्यार्थी हैं।
इनमें मुख्य रूप से एमएससी, एमकाम, एलएलएम, बीए, बीकॉम, बीएससी में वर्ष 2012-13 में प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्राएं शामिल हैं। इन संकाय की उपाधि हिन्दी विश्वविद्यालय के पहले दीक्षांत समारोह में दी जाएगी। इसी समारोह में छात्र धोती-कुर्ता या कुर्ता-पायजामा और छात्राएं साड़ी या सलवार सूट पहनेंगी।
बनारस हिंदू विश्वविद्यालय द्वारा 97वें दीक्षांत समारोह में भारतीय परिधान पहनाने की परंपरा शुरू की गई। वहां स्नातक स्तर के छात्र को धोती-कुर्ता के साथ पीले रंग की उत्तरी पहनते हैं। साथ ही साफा गुलाबी रंग का बांधते हैं। वहां स्नातकोत्तर और पीएचडी के छात्र बाकी परिधान स्नातक की तरह की पहनते हैं, लेकिन इनका साफा मेहरून रंग का होता है, शिक्षक-शिक्षिकाएं पीले रंग के साफे में आते हैं। इसके पहले वहां भी अंग्रेजों के जमाने से चली आ रही परंपरा अनुसार बोनेट, हुड और गाउन पहनकर उपाधि लेने की परंपरा थी।
डिग्री लेते वक्त भारतीय परिधान पहनने की शुरुआत महामना मदन मोहन मालवीय की वेशभूषा से प्रेरित होकर की गई है। वहीं छात्राओं के लिए लाल रंग के बॉर्डर वाली सफेद साड़ी या सलवार सूट पहनने की अनिवार्यता है। साफे जरूर इन्हें छात्रों की तरह ही पहने जाते हैं। हिन्दी विवि के कुलपति प्रो. मोहनलाल छीपा ने यहां का दीक्षांत समारोह भी बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय की तर्ज पर करने का प्रस्ताव रखा था, जिसे कार्यपरिषद ने मंजूरी दे दी। आगामी बैठक में इस आयोजन को अंतिम रूप दिया जाएगा।

नए कुलपति के चयन पर चर्चा
हिन्दी विवि के नए कुलपति के चयन को लेकर भी चर्चा का दौर शुरू हो गया है। हाल ही में आयोजित कार्यपरिषद की बैठक में डॉ. गोविंद प्रसाद मिश्रा को कुलपति चयन के लिए गठित समिति का सदस्य मनोनीत किया गया है। डॉ. मिश्रा नानाजी देशमुख पशु चिकित्सा विश्वविद्यालय जबलपुर के पूर्व कुलपति रहे हैं।

बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय की तर्ज पर होंगे परिधान
'' दीक्षांत समारोह में डिग्री प्राप्त करने वाले विद्यार्थी बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय की तर्ज पर भारतीय परिधान में ही नजर आएंगे। ड्रेस में मामूली फेरबदल हो सकता है। कार्यपरिषद ने भी इस पर अपनी मुहर लगा दी है।''- डॉ. संजय तिवारी, कुलसचिव, अटल बिहारी वाजपेयी हिन्दी विश्वविद्यालय, भोपाल
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।
Astrology
Click to listen..