Hindi News »Self-Help »Knowledge» Students Of Bhoj Open University Will Hear Lectures Online

भोज यूनिवर्सिटी के छात्र अब लेक्चर ऑनलाइन देख व सुन सकेंगे छात्र

स्टडी सेंटर एडुसेट से जुड़ेंगे, अप्रैल में शुरुआत, पहले चरण में इस प्रोजेक्ट से यूनिवर्सिटी के 40 सेंटर को जोड़ा जाएगा।

bhaskar news | Last Modified - Mar 06, 2016, 03:18 PM IST

भोपाल. - भोज मुक्त विश्वविद्यालय के छात्र विषय विशेषज्ञों के लेक्चर अब ऑनलाइन देख व सुन सकेंगे।
- अप्रैल माह से यूनिवसिर्टी का एडुसेट प्रोजेक्ट शुरू होने जा रहा है। पहले चरण में इस प्रोजेक्ट से यूनिवर्सिटी के 40 सेंटर को जोड़ा जाएगा। इसके बाद बाकी के सेंटर भी जुड़ेंगे।
- इस सुविधा को साल के अंत तक मोबाइल फोन पर भी उपलब्ध करा दिया जाएगा। इसके लिए विश्वविद्यालय मोबाइल एप तैयार करा रहा है।
- यूनिवर्सिटी ने सत्र 2016-17 के बजट में इस प्रोजेक्ट के लिए तीन करोड़ रुपए का प्रावधान किया है। - शनिवार को विवि की बोर्ड ऑफ मैनेजमेंट की बैठक आयोजित की गई। बैठक में सत्र 2016-17 का बजट पेश किया गया।

- बजट को छात्रहित का बताया जा रहा है। यूनिवर्सिटी ने इस बार बजट में छात्रों से ली जाने वाली फीस में कोई वृद्धि नहीं की है।
-बजट सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के आधार पर तैयार किया गया है। पिछले साल की तुलना में इस बार बजट में 20 प्रतिशत तक की वृद्धि की गई है।
- यूनिवर्सिटी ने बजट में 6999.00 लाख रुपए की आय और 7423.39 का व्यय बताया गया है।
भोजदर्शन नाम से शुरू होगा चैनल

-भोजवाणी नाम से रेडियो व भोजदर्शन नाम से चैनल शुरू होगा। इसकी सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से मंजूरी ली जाएगी।

- सभी रीजनल सेंटर्स को नेटवर्किंग के माध्यम से जोड़ा जाएगा।

- सर्व सुविधायुक्त स्टडी सेंटर की संख्या 250 से बढ़ाकर 350 की जाएगी।

- फेकल्टी और कर्मचारियों की नियमित नियुक्तियां की होंगी।
मूल्यांकनकर्ता का बढ़ेगा मानदेय

-यूनिवर्सिटी की परीक्षाओं की कॉपियों का मूल्यांकन करने वालों के मानदेय की दर 30 हजार रुपए से बढ़ाकर 50 हजार रुपए तक कर दी गई है।

- साथ ही कांट्रेक्ट क्लास की दर भी बढ़ाने का निर्णय लिया गया है।

- कुलपति प्रो. तारिक जफर की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में यूनिवर्सिटी के साथ ही शासन के अधिकारी भी मौजूद थे।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Knowledge

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×