एजूकेशन भास्कर

--Advertisement--

YAHOO! की इन गलतियों से सीख सकते हैं लीडरशिप के ये 8 मंत्र

1994 में याहू की शुरुआत स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में हुई थी। दो स्टूडेंट्स डेविड फिलो और जैरी यंग ने जैरी एंड डेविड्स गाइड टू वर्ल्ड वाइड वेब नामक पेज पर अपने पसंदीदा लिंक पेश किए।

Dainik Bhaskar

Aug 08, 2016, 12:05 AM IST
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
एजुकेशन डेस्क। 1994 में याहू की शुरुआत स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में हुई थी। दो स्टूडेंट्स डेविड फिलो और जैरी यंग ने जैरी एंड डेविड्स गाइड टू वर्ल्ड वाइड वेब नामक पेज पर अपने पसंदीदा लिंक पेश किए। इसे बाद में याहू नाम दिया गया। जल्द ही याहू लाखों लोगों का इंटरनेट सर्च इंजन बन गया, लेकिन कंपनी से लगातार ऐसी कई गलतियां होती चली गईं, जिसके चलते रेस में सबसे आगे दौड़ने वाली कंपनी सबसे पीछे हो गई। हम आपको इसकी असफलता की ऐसी बातें बता रहे हैं, जिनसे दूसरे लोग लीडरशिप सीख सकते हैं। आगे की स्लाइड्स पर पढ़ें लीडरशिप के मंत्र...
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
X
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
You can learned Leadership with Yahoo's Failure
Click to listen..