--Advertisement--

मैथ्स में 90% नहीं आने के डर से फंदे पर झूली छात्रा, बड़ा बनना चाहती थी

12वीं की छात्रा मोनिका ने सुसाइड नोट में लिखा- बड़ा बनना चाहती थी पर बन न सकी इसलिए यह कदम उठा रही हूं।

Dainik Bhaskar

Mar 08, 2016, 11:20 AM IST
12वीं की छात्रा मोनिका ने फांसी 12वीं की छात्रा मोनिका ने फांसी
उज्जैन. गणित में 90% अंक न आने के डर से महिदपुर रोड निवासी 12वीं की छात्रा मोनिका ने फांसी लगाकर जान दे दी। उसके कमरे से सुसाइड नोट मिला है। इसमें लिखा है, ''मैं गणित में 90 प्रतिशतअंक नहीं ला सकती हूं। बहुत बड़ा बनना चाहती थी, लेकिन नहीं बन सकती। इसलिए यह कदम उठा रही हूं।''

मोनिका के पिता कैलाश गहलोत रतलाम में जनशिक्षक हैं। उन्होंने बताया कि शाम को वह पढ़ रही थी। करीब 7 बजे पत्नी ने खाने के लिए आवाज लगाई लेकिन दरवाजा नहीं खुला। अंदर से आवाज न आने पर दरवाजा तोड़ा गया तो मोनिका का शव पंखे से लटकता मिला। रविवार को सतना में भी 10वीं के छात्र ने सुसाइड कर लिया था।
X
12वीं की छात्रा मोनिका ने फांसी 12वीं की छात्रा मोनिका ने फांसी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..