Hindi News »Self-Help »News» Pragyan Day 2 : Commenced With A Wide Range Of Events

‘प्रज्ञान’ फेस्टिवल के दूसरे दिन भी हुए कई इवेंट्स और गेम्स

प्रज्ञान के दूसरे दिन यानी 2 मार्च को कई तरह के इवेंट्स आयोजित किए गए।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 06, 2018, 07:22 PM IST

  • ‘प्रज्ञान’ फेस्टिवल के दूसरे दिन भी हुए कई इवेंट्स और गेम्स
    +2और स्लाइड देखें

    तिरुचिरापल्ली।नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी तिरुचिरापल्ली (NITT) हर साल फरवरी या मार्च में टेक्नो-मैनेजरियल फेस्टिवल ‘प्रज्ञान’ (Pragyan) आयोजित करता है। प्रज्ञान का 14वां एडिशन इस साल 1 मार्च से शुरू हुआ।

    प्रज्ञान के दूसरे दिन यानी 2 मार्च को कई तरह के इवेंट्स आयोजित किए गए। इनमें होवर वन, GPU कोडिंग इवेंट (हंट द कोड) का प्रारंभिक राउंड और NITTRO शामिल थे। इसके अलावा कई वर्कशॉप्स भी हुई जिनमें दक्षिण भारत के कई कॉलेजों के अनेक स्टूडेंट्स ने हिस्सा लिया।


    टेक्सास इंस्ट्रमेंट्स की माइक्रोकंट्रोलर्स वर्कशॉप, ऑटोडेस्क द्वारा प्रायोजित फ्यूजन 360 वर्कशॉप, द इंडस्ट्रियल ऑटोमेशन एंड IOT वर्कशॉप, डीआरडीओ की आर्मर्ड फाइटिंग व्हीकल्स वर्कशॉप और लैटिन व्यू एनालिटिक्स की डेटा एनालिटिक्स वर्कशॉप आयोजित की गई।


    वर्कशॉप्स के अलावा गेम्सस्केप बैनर के तहत कई तरह के गेम्स भी हुए। गेम्स में तकनीकी और मनोरंजन का मिश्रण था जिसे स्टूडेंट्स ने न केवल एंजॉय किया, बल्कि टेक्नोलॉजिकल इनसाइट भी हासिल किया।
    प्रज्ञान के दूसरे दिन आकर्षण का मुख्य केंद्र भारत के पूर्व राष्ट्रीय रक्षा सलाहकार शिवशंकर मेनन का गेस्ट लेक्चर था।


    गौरतलब है कि प्रज्ञान में हर साल भारत के कई कॉलेजों के 10 हजार से भी ज्यादा स्टूडेंट्स भाग लेते आए हैं। इस तरह यह भारत के बड़े टेक्नो-मैनेजरियल फेस्टिवल्स में से एक बन गया है। इस बार के एडिशन की थीम है - ‘द नेक्स्ट डाइमेंशन’। इसका मोटो है - आइए, टेक्नोलॉजी को सेलिब्रेट करें।


  • ‘प्रज्ञान’ फेस्टिवल के दूसरे दिन भी हुए कई इवेंट्स और गेम्स
    +2और स्लाइड देखें
  • ‘प्रज्ञान’ फेस्टिवल के दूसरे दिन भी हुए कई इवेंट्स और गेम्स
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×