Hindi News »Self-Help »News» CBSE To Use Metal Detectors During Entrance Tests

सीबीएसई मुन्नाभाईयों से निपटने मैटल डिटेक्टर से करेगा जांच

जेईई (मैन), एआईपीएमटी, यूजीसी नेट में इलेक्ट्रानिक्स डिवाइस के जरिए नकल करने वालों को पकड़ने में किया जाएगा।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 19, 2016, 11:03 AM IST

नई दिल्ली. सीबीएसई मुन्नाभाई से निपटने के लिए 8 हजार मैटल डिटेक्टर खरीदेगा। इनका उपयोग वह जेईई (मैन), एआईपीएमटी, यूजीसी नेट में इलेक्ट्रानिक्स डिवाइस के जरिए नकल करने वालों को पकड़ने में करेगा।

बोर्ड ने अपनी वेबसाइट पर जारी एक सर्कुलर में कहा कि सीबीएसई प्रोफेशनल एग्जामिनेशन में कैंडिडेट्स के इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का उपयोग करने से रोकने के लिए तय किया गया है कि परीक्षा केंद्र में उसे इंटर करते ही रोककर जाचं की जाए। उच्च स्तरीय संवेदनशील हैंडहेल्ड मैटल डिटेक्टर का प्रयोग बैग्स/डिवाइस चेक करने के लिए किया जाएगा।
सीबीएसई कई प्रोफेशनल एग्जामिनेशन और एलिजिबिलिटी टेस्ट करवाती है जैसे JEE (Main), AIPMT, UGC-NET & CTET, JNVST आदि।
पिछले साल हरियाणा में ब्ल्यूटूथ डिवाइस और माइक्रोफोन के जरिए नकल करने की रिपोर्ट्स के बाद AIPMT को रद्द करना पड़ा था और सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर इसे दोबारा करवाना पड़ा था।
सीबीएसई लगभग 8000 मैटल डिटेक्टर खरीदने की तैयारी में है। इनका प्रयोग कम से कम देश के 52 शहरों में किया जा सकेगा।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×