--Advertisement--

खुल रही है देश की पहली जेंडर यूनिवर्सिटी, इसमें होगी कुछ ऐसी पढ़ाई

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी 27 फरवरी को 24 एकड़ में भारत की पहली जेंडर यूनिविर्सिटी 'Gender Park' का उद्घाटन करेंगे।

Dainik Bhaskar

Feb 25, 2016, 12:00 AM IST
फोटो प्रतीकात्मक। फोटो प्रतीकात्मक।
एजुकेशन डेस्क. देश में अपने तरह की सबसे अलग और पहली जेंडर यूनिवर्सिटी केरल के कोझीकोड जिले में खुलने जा रही है। इस एक्सक्लूसिव यूनिवर्सिटी में जेंडर से संबंधित रिसर्च ओरिएंटेड स्टडी होगी। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी 27 फरवरी को वेल्लुमदुकुन्नू में 24 एकड़ में बन रही भारत की पहली जेंडर यूनिविर्सिटी 'Gender Park' का उद्घाटन करेंगे। यूनिवर्सिटी के कॉम्पलेक्स को 'Thantedam Gender Park' का नाम दिया गया है।
परंपरागत विश्वविद्यालयों से ऐसे होगी अलग स्टडी : इस यूनिवर्सिटी में परंपरागत पैटर्न पर कॅरिकुलम और सिलेबस नहीं होगा।यूनिवर्सिटी की संकल्पना विदेशी संस्थानों के मॉडल पर तैयार की जा रही है। एक हाई-लेवल कमेटी का गठन होगा, जो विचार-विमर्श करके सिलेबस फाइनल करेगी। राज्य का सामाजिक न्याय विभाग इस ऑटोनोमस यूनिवर्सिटी में अंतरराष्ट्रीय अकादमिक स्तर की एजुकेशन उपलब्ध कराने की तैयारी में है।
- क्या खास: कॅरिकुलम और सिलेबस पारंपरिक के बजाय अंतरराष्ट्रीय मापदंडों पर आधारित होगा।
आगे जेंडर यूनिवर्सिटी का टारगेट, क्या होगा प्लान, विदेशी संस्थानों से मिलेगी मदद और देश की अन्य अलग तरह की आने वाली यूनिवर्सिटीज...
जेंडर यूनिवर्सिटी का ऐसा होगा कैम्पस। जेंडर यूनिवर्सिटी का ऐसा होगा कैम्पस।
यह है टारगेट : यूनिवर्सिटी का मुख्य उद्देश्य जेंडर इक्विलिटी को प्रमोट करने  रिसर्च और इससे जुड़े अन्य कार्यों को आगे बढ़ाना है। पार्क तीनों जेंडर की समानता के लिए रिसर्च, डवलपमेंट की क्षमताओं और लर्निंग पर फोकस करेगा।
 
- केरल सरकार के सामाजिक न्याय विभाग की पहल से शुरू की जा रही इस यूनिवर्सिटी में अकैडमिक वर्ल्ड और सिविल सोसाइटी की मदद से एक कॉमन प्लेटफॉर्म तैयार करना है। इससे जेंडर इश्यूज पर काम किया जा सके।
यूनिवर्सिटी कैम्पस की परिकल्पना की डिजिटल इमेज। यूनिवर्सिटी कैम्पस की परिकल्पना की डिजिटल इमेज।
यह है प्लान : संस्थान कई क्षेत्रों में रिसर्च और लर्निंग को जेंडर से संबंधित पॉलिसी से जोड़ने में मदद करेगा है। साउथ एशियन रिसर्च सेंटर जेंडर पार्क को पूर्ण यूनिवर्सिटी डवलप करने का काम कर रहा है।
 
विदेशी संस्थानों से स्टडी में हेल्प : यूनिवर्सिटी और सरकार जेंडर फील्ड की स्टडी में वैश्विक स्तर पर काम करने वाले संस्थानों जैसे लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स समेत कई अन्य संस्थानों से सहयोग लेने की तैयारी कर रहे हैं। 
 
आगे की स्लाइड्स में देश का पहला रक्षा विश्वविद्यालय, देश की नेशनल स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी और सेंट्रल आयुष यूनिवर्सिटी...
प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
देश की पहली रेल यूनिवर्सिटी गुजरात में
हाल में हुई सरकारी घोषणा के अनुसार, गुजरात के वडोदरा में देश की पहली रेल यूनिवर्सिटी खुलेगी। पहले चरण में यूनिवर्सिटी एमबीए व एमटेक डिग्री प्रदान करेगी। बाद में रेलवे ऑपरेशंस में डिप्लोमा व बीटेक की डिग्रियां भी उपलब्ध होंगी।
 
- क्या खास: यह संस्थान भारत को रेलवे इंजीनियरिंग व मैनेजमेंट में रिसर्च व डेवलपमेंट के ग्लोबल सेंटर में तब्दील करेगा।
गुड़गांव में नेशनल डिफेंस यूनिवर्सिटी का शिलान्यास तत्कालीन पीएम ने किया था। गुड़गांव में नेशनल डिफेंस यूनिवर्सिटी का शिलान्यास तत्कालीन पीएम ने किया था।
गुड़गांव में पहला रक्षा विश्वविद्यालय
 
रक्षा क्षेत्र में नीति बनाने वाले विशेषज्ञों से लेकर विदेशों से रक्षा संबंधों पर रिसर्च के लिए बनने जा रहे देश के पहले राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय का निर्माण गुड़गांव के बिनौला गांव में शुरू हो गया है। यह सैन्य अध्ययन में प्रशिक्षण और शोध के लिए अपनी तरह का पहला संस्थान होगा।
 
>> क्या खास: रक्षा रिसर्च के साथ-साथ यूनिवर्सिटी डिफेंस स्टडीज, डिफेंस मैनेजमेंट, डिफेंस साइंस व टेक्नोलॉजी क्षेत्र में उच्च शिक्षा को विकसित करेगी।
फोटो प्रतीकात्मक। फोटो प्रतीकात्मक।
मणिपुर में नेशनल स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी
 
यूं तो स्पोर्ट्स के लिए देश में कई संस्थान हैं, लेकिन अब राष्ट्रीय स्तर पर खेल विकास के लिए प्रयास जोरों पर हैं। इसी सिलसिले में बजट 2014-15 में प्रस्तावित नेशनल स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की स्थापना मणिपुर के थाऊबल जिले में की जाएगी।
 
>>क्या खास:खेल क्षेत्र में शिक्षा के लिए राष्ट्रीय स्तर पर शिक्षण संस्थान होगा। बीपीईडी, एमपीईडी, फिजियोथैरेपी, फिटनेस, खेल प्रबंधन, से जुड़े कोर्स उपलब्ध होंगे।
फोटो प्रतीकात्मक। फोटो प्रतीकात्मक।
झारखंड में सेंट्रल आयुष यूनिवर्सिटी
 
हाल की एक घोषणा के अनुसार, रांची में सेंट्रल आयुष यूनिवर्सिटी की स्थापना होगी जिसमें देसी और परंपरागत चिकित्सा पद्धतियों व औषधीय पौधों पर रिसर्चके अलावा डिग्री व डिप्लोमा कोर्स करवाए जाएंगे। छत्तीसगढ़ में भी आयुष एंड हेल्थ साइंसेज यूनिवर्सिटी मौजूद है।
 
>>क्या खास: इस कदम से संबंधित क्षेत्र में शिक्षा को और मजबूती मिलगी।
फोटो प्रतीकात्मक। फोटो प्रतीकात्मक।
रिसर्च व इनोवेशन की पढ़ाई
 
हाल में प्रधानमंत्री कार्यालय ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय से रिसर्च व इनोवेशन के लिए 10 प्राइवेट ऑटोनॉमस यूनिवर्सिटीज स्थापित करने की योजना में तेजी लाने को कहा है। इस कदम से उच्च शिक्षा के लिए दुनिया भर के निजी संस्थानों का भारत आने का मार्ग प्रशस्त हो सकता है।
 
>>क्या खास: ये यूनिवर्सिटीज रिसर्च व इनोवेशन के लिए आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध करवाएंगी।
 
दिलचस्प फैक्ट्स :
 
-20,000 से ज्यादा स्टूडेंट्स के साथ बीएचयू एशिया की सबसे बड़ी रेजिडेंशियल यूनिवर्सिटीज में से एक है।
 
- 700से ज्यादा यूनिवर्सिटीज व 38,000 कॉलेजों के साथ भारत दुनिया के सबसे बड़े हायर एजुकेशन सेक्टर वाले देशों में एक है।
 
- 40 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स वाली इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी, दुनिया की सबसे बड़ी ओपन यूनिवर्सिटी है।
 
- 20 से ज्यादा यूनिवर्सिटीज भारत में भाषाओं को समर्पित हैं।
X
फोटो प्रतीकात्मक।फोटो प्रतीकात्मक।
जेंडर यूनिवर्सिटी का ऐसा होगा कैम्पस।जेंडर यूनिवर्सिटी का ऐसा होगा कैम्पस।
यूनिवर्सिटी कैम्पस की परिकल्पना की डिजिटल इमेज।यूनिवर्सिटी कैम्पस की परिकल्पना की डिजिटल इमेज।
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।
गुड़गांव में नेशनल डिफेंस यूनिवर्सिटी का शिलान्यास तत्कालीन पीएम ने किया था।गुड़गांव में नेशनल डिफेंस यूनिवर्सिटी का शिलान्यास तत्कालीन पीएम ने किया था।
फोटो प्रतीकात्मक।फोटो प्रतीकात्मक।
फोटो प्रतीकात्मक।फोटो प्रतीकात्मक।
फोटो प्रतीकात्मक।फोटो प्रतीकात्मक।
Bhaskar Whatsapp
Click to listen..