Hindi News »Self-Help »Career Tips» Children Will Not Carry School Bag In Balod (CG)

कलेक्टर ने हटाया बच्चों के कंधों से स्कूल बैग का वजन, ऐसे दिया फायदा

छत्तीसगढ़ के बालोद जिले के कलेक्टर राजेश सिंह राणा ने यह अनोखी शुरुआत की है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jul 28, 2016, 12:39 PM IST

एजुकेशन डेस्क। छत्तीसगढ़ के बालोद जिले के कलेक्टर राजेश सिंह राणा ने यह अनोखी शुरुआत की है। राणा ने छोटे बच्चों को स्कूल बैग्स से मुक्त कर दिया है। यानी अब इन स्टूडेंट्स को बैग लेकर स्कूल आने की जरूरत होती है।
कलेक्टर राजेश सिंह राणा ने कहा, "हमने जिले के 50 स्कूलों के 2,313 बच्चों को बस्ता के बोझ से मुक्त करा दिया है। अब बच्चे बिना बस्ता के रोज हंसते-खेलते स्कूल जाते हैं। अब उन्हें भारी-भरकम बस्ता उठाकर स्कूल जाने का डर नहीं सताता है।" बालोद जिले में प्राथमिक शाला के क्‍लास पहली से पांचवीं तक के बच्चों को स्कूल आते-जाते समय अब बस्ता के बोझ से मुक्त करने की नई पहल शुरू की गई है।
स्‍कूल में ही रहेंगे बैग्स :
जिले के पांचों विकासखंड की चुनी गई दस-दस प्राथमिक शालाओं सहित कुल पचास प्राथमिक शालाओं में बच्चों की पुस्तकें, नोटबुक आदि रखने के लिए सभी क्‍लास में रैक बनाई गए है। रैक में बच्चों के नाम लिखे गए हैं। सभी बच्चों को दो-दो सेट पुस्तकें उपलब्ध कराई गई हैं। एक सेट पुस्तक घर पर और एक सेट पुस्तक रैक में रखी गई है। बच्चे होमवर्क मिलने पर सिर्फ नोटबुक लेकर घर जाते हैं और नोटबुक लेकर स्कूल आते हैं।
India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Children will not carry School Bag in Balod (CG)
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Career Tips

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×