Hindi News »Self-Help »Career Tips» Tips And Strategy To Crack Bank PO Examination

जानिए कैसा होता है बैंक Exam? इन TIPS से मिलेगा तैयारी में फायदा

बैंक की नौकरी में जाने वाले स्टूडेंट्स के लिए इसकी तैयारी काफी अहम होती है। कई स्टूडेंट्स ऐसा मानते हैं कि इसका एग्जाम काफी टफ होता है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 10, 2016, 12:05 AM IST

  • एजुकेशन डेस्क। बैंक की नौकरी में जाने वाले स्टूडेंट्स के लिए इसकी तैयारी काफी अहम होती है। कई स्टूडेंट्स ऐसा मानते हैं कि इसका एग्जाम काफी टफ होता है। हालांकि, सही प्लानिंग और स्मार्ट स्टडी से बैंक का एग्जाम आसानी से क्लियर किया जा सकता है। हम बैंक PO एग्जाम को क्वालिफाई करने के कुछ टिप्स बताने के साथ इसके पैटर्न के बारे में बता रहे हैं। कैसा होता है PO एग्जाम का पैटर्न...
    बैंक PO (Probationary Officers) के एक्जाम के 3 अलग-अलग फेस होते हैं। यहां पर हमने उदाहरण के लिए SBI के PO एग्जाम को चुना है।
    फेस 1 : Preliminary Exam
    फेस 2 : Main Exam
    फेस 3 : Group Discussion and Interview
    फेस 1 : Preliminary Exam

    यह ऑनलाइन ऑब्जेक्टिव टेस्ट होता है। जिसमे कुल 100 नंबर्स के 100 सवाल आते हैं। ये सवाल 3 अलग-अलग सेक्शन इंग्लिश लेंग्वेज, क्वांटिटेटिव एबिलिटी और रीजनिंग एबिलिटी शामिल होते हैं। तीनों ही सेक्शन में कैंडिडेट्स का पास होना जरूरी है। पासिंग मार्क्स कितने होंगे इस बात का सिलेक्शन बैंक तय करता है।
    टेस्ट का नामसवालों की संख्यामार्क्स
    English language3030
    Quantitative ability3535
    Reasoning ability3535
    Total100100
    एग्जाम की आगे की प्रोसेस और तैयारी की टिप्स अगली स्लाइड्स में जानिए...
  • फेस 2 : Main Exam
    मेन एग्जाम को सिर्फ वही कैंडिडेट्स दे सकते हैं, जिन्होंने फेस-1 क्लियर किया हो। मेन एग्जाम ऑब्जेक्टिव और डिस्क्रिप्टिव पैटर्न वाला होता है। इसमें 200 मार्क्स के 200 ऑब्जेक्टिव सवाल और 50 मार्क्स का डिस्क्रिप्टिव टेस्ट होता है। डिस्क्रिप्टिव टेस्ट के दौरान कैंडिडेट्स को सवालों के जवाब कम्प्यूटर पर ही टाइप करने होते हैं।
    टेस्ट का नामसवालों की संख्यामार्क्स
    Reasoning5050
    English Language4040
    Quantitative Aptitude5050
    General Awareness4040
    Computer Knowledge2020
    Total200200
    SBI बैंक में PO के ऑब्जेक्टिव टेस्ट के 4 सेक्शन :-
    • Test of English Language (Grammar, Vocabulary, Comprehension etc.)
    • Test of General Awareness, Marketing &Computers
    • Test of Data Analysis & Interpretation
    • Test of Reasoning (High Level)
    नोट : इस टेस्ट मे कैंडिडेट को हर सेक्शन क्लियर करना जरूरी है। इसके लिए पासिंग मार्क्स बैंक द्वारा ही तय किए जाएंगे। डिस्क्रिप्टिव टेस्ट को सिर्फ वही कैंडिडेट्स दे सकते हैं जो फेस-2 के ऑब्जेक्टिव टेस्ट में पास हो जाएंगे।
  • फेस 3 : Group Discussion and Interview
    स्टेट बैंक PO एक्जाम में ग्रुप डिस्कशन (GD) और इंटरव्यू सबसे आखरी फेस होता है। ये 50 मार्क्स को होता है। GD के लिए 20 और इंटरव्यू के लिए 30 मार्क्स होते हैं। यहां भी पासिंग मार्क्स कितने होंगे, इस बात का चयन बैंक के द्वारा किया जाता है।
    फाइनल सिलेक्शन : कैंडिडेट को फाइनल सिलेक्शन के दौरान जो मार्क्स मिलते हैं उसमें फेस-1 के मार्क्स नहीं जोड़े जाते। इसमें सिर्फ मेन एग्जाम के साथ ग्रुप डिस्कशन और इंटरव्यू के मार्क्स शामिल होते हैं। इन नंबर्स के आधार पर मेरिट लिस्ट बनाई जाती है।
    नोट : फेस-2 के 250 मार्क्स को 75 और फेस-3 के 50 मार्क्स को 25 में कनवर्ट करके कुल 100 मार्क्स में से मेरिट लिस्ट तैयारी की जाती है।
    आगे की स्लाइड्स पर जानिए कैसे करें बैंक PO एग्जाम की तैयारी...
  • Preliminary एग्जाम से शुरू करें तैयारी :
    Preliminary एग्जाम कैंडिडेट्स को फेस-2 तक पहुंचाने में अहम रोल निभाता है। ऐसे में इसकी तैयारी बेहतर होना चाहिए। इस एग्जाम में जो तीन सबजेक्ट के ऑब्जेक्टिव सवाल आते हैं उनके लिए एक प्लान तैयार करना चाहिए।
    > English Language
    > Quantitative Ability
    > Reasoning Ability
    इन तीनोंं सब्जेक्ट्स की तैयारी ये सोचकर करना चाहिए कि फेस-1 क्लियर होने के बाद फेस-2 में भी ये आपके काम आएंगे। फेस-2 में इन तीनोंं सबजेक्ट के मार्क्स 140 होते हैं। जबकि पेपर के कुल मार्क्स 200 होते हैं। डिस्क्रिप्टिव टेस्ट के 50 मार्क्स अलग से होते हैं।
    आगे पढ़िए बैंक PO एग्जाम की तैयारी में किन बातों का रखें ध्यान...
  • कैलकुलेटिव स्टडी प्लान बनाएं :
    बैंक एग्जाम क्लियर करने के लिए कैंडिडेट्स को पूरे मन से पढ़ाई करना होगी, लेकिन जरूरी है कि वो सभी सब्जेक्ट्स पर ध्यान दे। इसके लिए कैंडिडेट को एक कैलकुलेटिव स्टडी प्लान बनाना चाहिए। जिसमें मुश्किल सब्जेक्ट से आसान तक सभी सबजेक्ट को ज्यादा से कम अनुपात में टाइम दें। यानी रीजनिंग मुश्किल है तो फिर उसे ज्यादा टाइम दें। वहीं, आसान सबजेक्ट को कम। इस तरह से आप सभी सबजेक्ट की तैयारी बराबर से कर पाएंगे। इस दौरान जनरल अवेयरनेस और कम्प्यूटर के बारे में भी पढ़ते रहें।
  • मॉक टेस्ट पेपर सॉल्व करें :
    आपकी तैयारी कैसी है, इस बात का पता करने का बेस्ट ऑप्शन मॉक टेस्ट पेपर होता है। इसका फॉर्मेट हूबहू एग्जाम की तरह होता है। ऐसे में किसी कोचिंग इंस्टीट्यूट में जाकर मॉक पेपर लिया जा सकता है। इसके सॉल्व करने के दो फायदे होंगे। पहला आपकी तैयारी कैसी है इस बात का पता चल जाएगा और दूसरा फिक्स टाइम में आप कितने सवाल हल कर पा रहे हैं ये भी पता चलेगा। आप मॉक पेपर में अच्छा परफॉर्म करते हैं तो इसका फायदा एग्जाम में जरूर मिलेगा।
  • GK और कम्प्यूटर को बराबर देखें :
    जनरल अवेयरनेस और कम्प्यूटर सेक्शन को भी लगातार देखते रहना चाहिए। कई बार एग्जाम के सब्जेक्ट्स की तैयारियों में हम इन्हें अनदेखा कर देते हैं जिसका खामियाजा एग्जाम की लास्ट प्रोसेस में होता है। इसकी तैयारी के लिए न्यूज पेपर जरूर पढ़ें। साथ ही, थोड़ा वक्त कम्प्यूटर पर टाइपिंग या अन्य चीजों में दें।
    अंग्रेजी में सुधार के लिए ये करें :
    > रोजाना इंग्लिश न्यूज पेपर पड़ना ।
    > रोज इंग्लिश के 10 नए वर्ड सीखना चाहिए।
    > इंग्लिश न्यूज चैनल जरूर देखें।
    > इंग्लिश मैग्जीन भी लगातार पढ़ें।
  • एक्यूरेसी पर ध्यान दें :
    बैंक PO के एग्जाम में एक्यूरेसी सबसे ज्यादा जरूरी है। यानी कैंडिडेट्स को हर सवाल सॉल्व करने के लिए सिर्फ 1 मिनट मिलता है। इस एक मिनट में सही जवाब सिलेक्ट करना होता है। इतना ही नहीं, अगर जल्दबाजी में आपने गलत जवाब सिलेक्ट कर दिया तो इसके 0.25 मार्क्स की निगेटिव मार्किंग होगी। समय बचाने के लिए हमेशा ऐसे सवालों को पहले सॉल्व करें जिनके आंसर आपको याद हैं। ऐसे में बचा हुआ समय आप रीजनिंग को दे पाएंगे। एग्जाम के दौरान हमेशा कॉन्फिडेंस रहें।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Career Tips

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×