Hindi News »Self-Help »Self Help» Time Management & Strategy Lessons To Learn From A. P. J. Abdul Kalam.

ऐसा अनूठा था कलाम का टाइम मैनेजमेंट, इसलिए थे सबसे अलग

मिसाइल मैन के रूप में भी मशहूर डॉ एपीजे अब्दुल कलाम अपने आप में एक मिसाल हैं। अपने अति व्यस्त शेड्यूल के बावजूद वे पढ़ने, लिखने और लोगों से मिलने का भी समय निकाल लेते थे। इस बात के लगभग सभी लोग कायल थे।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Dec 06, 2016, 12:03 AM IST

  • सेल्फ हेल्प डेस्क।मिसाइल मैन के रूप में भी मशहूर डॉ एपीजे अब्दुल कलाम अपने आप में एक मिसाल हैं। अपने अति व्यस्त शेड्यूल के बावजूद वे पढ़ने, लिखने और लोगों से मिलने का भी समय निकाल लेते थे। इस बात के लगभग सभी लोग कायल थे।
    डॉ. कलाम के OSD सृजन पाल सिंह ने dainikbhaskar.com से एक्सक्लूसिव बातचीत में बताया कि डॉ. कलाम किस तरह से अपना टाइम मैनेज करते थे। उन्होंने बताया कि उन्होंने टाइम मैनेज करने के लिए भी सीक्रेट कोड्स रखे थे। इसके अलावा वे अलग-अलग लोगों के लिए भी कोड्स का इस्तेमाल करते थे।
    हम आपको यहां बता रहे हैं, डॉ. कलाम द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले ऐसे ही कुछ कोड्स।
    > आगे की स्लाइड्स में जानें कलाम के कोड्स...
  • यहां पर ‘T’ का मतलब है वह टाइम जब डॉ. कलाम को कहीं पर पहुंचना है या कुछ करना है। और ‘-4’ का मतलब है कि उससे 4 घंटे पहले उन्हें उठना है या तैयारी करनी है। इस कोड का इस्तेमाल वे अक्सर किसी फंक्शन में जाने के लिए करते थे।
  • इस कोड का इस्तेमाल अक्सर वे अपने पर्सनल समय के लिए करते थे। जैसे ब्रेकफास्ट, मेडिटेशन, रीडिंग आदि। डॉ. कलाम यह कोड उस समय ज्यादा इस्तेमाल करते थे, जब उन्हें किसी विशेष कार्यक्रम में बाग लेना है या कुछ खास काम करना है। इस कोड के जरिए यह तय होता था कि किस समय पर उन्हें अपने पर्सनल काम करने हैं।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Self Help

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×