Hindi News »Self-Help »Self Help» Untold Story Of Katni SP Gorav Tiwari

इस IPS के सपोर्ट में पूरा शहर उतरा सड़कों पर, जानिए इनकी पूरी कहानी

मप्र के शहर कटनी के एसपी गौरव तिवारी का ट्रांसफर रुकवाने के लिए पूरा शहर सड़कों पर है। तिवारी का ट्रांसफर कटनी से छिंदवाड़ा कर दिया गया है। वे बैंकों और हवाला कारोबार करने वालों के गठजोड़ की जांच कर रहे थे। गौरव तिवारी की लाइफ इंस्पायरिंग है। छोटे से गांव से निकलकर वे आईआईटी तक पहुंचे। आईपीएस बनना चाहते थे लेकिन तैयारी के लिए पैसे नहीं थी इसलिए प्राइवेट नौकरी की।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jan 12, 2017, 03:08 PM IST

  • करियर डेस्क।मप्र के कटनी के SP रहे गौरव तिवारी का ट्रांसफर रुकवाने के लिए पूरा शहर सड़कों पर है। तिवारी का ट्रांसफर कटनी से छिंदवाड़ा कर दिया गया है। वे बैंकों और हवाला कारोबार करने वालों के गठजोड़ की जांच कर रहे थे। ऐसी है सक्सेस स्टोरी...
    गौरव तिवारी की लाइफ इंस्पायरिंग है। छोटे से गांव से निकलकर वे IIT तक पहुंचे। वे IPS बनना चाहते थे, लेकिन इसकी तैयारी के लिए पैसे नहीं थी। इसलिए उन्होंने प्राइवेट नौकरी की और फिर वे उन्होंने UPSC की एग्जाम क्रैक की।
    क्या करते हैं गौरव के पिता, ये कैसे बने IPS, जानिए आगे की स्लाइड्स में …
  • गांव में ही पले-बढ़ें ...
    गौरव तिवारी बनारस के पास स्थित एक गांव के रहने वाले हैं। उनकी शुरुआती स्कूली पढ़ाई भी गांव में ही हुई। उनके पिता अरुण तिवारी पेशे से किसान हैं। मां गृहिणी हैं।
  • पहले की IIT
    गौरव बचपन से ही पढ़ाई में आगे रहे। उन्होंने मेहनत करके IIT का एंट्रेस एग्जाम क्लियर किया। अच्छे मार्क्स के चलते उन्हें आईआईटी कानपुर में एडमिशन मिल गया। यहां स्कॉलरशिप भी मिली जिसके चलते वे इस संस्थान से पढ़ाई कर सके।
  • टाटा केमिकल में की सर्विस...
    गौरव का सपना शुरू से ही आईपीएस अधिकारी बनने का था। हालांकि UPSC एग्जाम की तैयारी करने लायक पैसे भी उस समय उनके पास नहीं थे। इसी कारण उन्होंने आईआईटी के बाद टाटा केमिकल ज्वॉइन की। दो साल के बाद वे UPSC की एग्जाम की तैयारी के लिए दिल्ली चले गए। वहां दो साल की मेहनत के बाद एग्जाम क्रेक की।
  • कटनी में बस छह माह ही रह पाए...
    तिवारी एक्सिस बैंक सहित कई बैंकों में फर्जी खातों से 500 करोड़ के हवाला लेनदेन की जांच कर रहे थे।
    वे कटनी में 6 माह की पोस्टेड रहे। इतने कम समय में उनका काम ऐसा रहा कि शहर की जनता उन्हें कटनी से जाने नहीं देना चाहती।

    ये भी पढ़ें...

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Self Help

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×