Hindi News »Self-Help »Self Help» Deepika Padukone Success Story

कभी थी किंगफिशर की कैलेंडर गर्ल, आज हैं टॉप-10 हाईएस्ट Paid एक्ट्रेस

बचपन में दीपिका पादुकोण ग्लैमर, फैशन की दुनिया से दूर स्पोर्ट्स में करियर बनाने की चाह रखती थी। वे बैडमिंटन के लिए इतनी पैशनेट थी कि नेशनल लेवल तक पहुंच चुकी थी इसके बावजूद स्कूली दिनों में ही उनकी इंटरेस्ट मॉडलिंग की तरफ चला गया।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jan 05, 2017, 12:05 AM IST

  • सेल्फ हेल्प डेस्क। बचपन में दीपिका पादुकोण ग्लैमर, फैशन की दुनिया से दूर स्पोर्ट्स में करियर बनाने की चाह रखती थी। वे बैडमिंटन के लिए इतनी पैशनेट थी कि नेशनल लेवल तक पहुंच चुकी थी इसके बावजूद स्कूली दिनों में ही उनका इंटरेस्ट मॉडलिंग की तरफ चला गया।
    किंगफिशर ने लाइमलाइट में ला दिया...
    लिम्का, क्लोजअप जैसे कमर्शियल ऐड के लिए शूट करने के बाद किंगफिशर ने उन्हें लाइम लाइट में ला दिया। 2004 से 2006 ये दो साल दीपिका की मॉडलिंग करियर के लिए बेहद खास रहे। वे किंगफिशर की मॉडल ऑफ द ईयर बनीं। आज उनके बर्थडे पर हम बता रहे हैं इंडस्ट्री में बिना किसी गॉडफादर के दीपिका ने कैसे सक्सेस पाई।
    आगे की स्लाइड्स में जानिए उनकी सफलता की कहानी...
  • नेशनल प्लेयर थी, हॉबी के कारण छोड़ दिया बैडमिंटन

    > दीपिका जाने-माने बैडमिंटन प्लेयर प्रकाश पादुकोण की बड़ी बेटी हैं। इसी कारण बचपन से बैडमिंटन में उनका इंटरेस्ट रहा। स्कूल के दिनों में वे सुबह 5 बजे उठती थी। फिजिकल एक्सरसाइज के बाद स्कूल जाती थी।
    > स्कूल से आते ही बैडमिंटन प्रैक्टिस करती थी। इसके बाद होमवर्क करती थी। वे बैडमिंटन की नेशनल प्लेयर व बेसबॉल की स्टेट प्लेयर रहीं हैं। स्कूली दिनों में स्पोर्ट्स के बजाए उनकी हॉबी मॉडलिंग बन गई इसलिए सक्सेस मिलने के बाद भी उन्होंने स्पोर्ट्स को छोड़ दिया।
    लर्निंग : सक्सेस नहीं हॉबी में यकीन करें। हॉबी आपको सक्सेस दिला ही देगी।
  • 10वीं क्लास में ही तय कर लिया था
    > दीपिका जब 10वीं क्लास में थी तभी उन्होंने तय कर लिया था कि वे फैशन मॉडल बनेंगी। जबकि बॉलीवुड में उनका कोई गॉडफादर नहीं था। उनकी फैमिली के भी कोई कनेक्शन बॉलीवुड में नहीं थे। उनके पिता उन्हें बैंडमिंटन प्लेयर बनता हुआ देखना चाहते थे।
    > इसके बावजूद दीपिका अपने निर्णय पर अडिग रही। कॉलेज के दिनों में उन्होंने नेशनल लॉ कॉलेज, बैंगलुरू में फैशन शो किए। इसी के बाद उन्हें डाबर लाल पाउडर, क्लोजअप टूथपेस्ट, लिम्का जैसे ब्रांड के लिए मॉडलिंग करने का मौका मिला।
    लर्निंग :अपने ऊपर कॉन्फिडेंस रखें। मेहनत करने से रास्ते खुद बनते चले जाते हैं।
  • करियर के लिए बेंगलुरु से मुंबई शिफ्ट हुईं

    > 19 साल की उम्र में दीपिका अपने घर बेंगलुरू से मुंबई अपनी आंटी के पास शिफ्ट हो गईं। किंगफिशर फैशन अवॉर्ड्स में उन्हें मॉडल ऑफ द ईयर से नवाजा गया। जी फैशन अवॉर्ड्स के फीमेल मॉडल ऑफ द ईयर का अवॉर्ड भी उन्होंने जीता।
    > इसी दौरान उन्हें हिमेश रेशमिया के म्यूजिक वीडियो में काम करने का मौका मिला। नाम है तेरा सांग में उन्होंने काम किया था। इसके बाद वे इंडस्ट्री में थोड़ा लाइम लाइट में आईं।

    लर्निंग : हर स्टेज पर खुद को प्रूफ करना जरूरी है।
  • अनुपम खेर की एकेडमी में सीखें गुर
    > एक्टिंग के गुर दीपिका ने अनुपम खेर की एकेडमी में सीखे। 2006 में उन्होंने कन्नड़ मूवी ऐश्वर्या से फिल्मी दुनिया में अपने करियर की शुरुआत की। मॉडलिंग व फिल्म में बेहतरीन काम के चलते उन्हें 2007 में ओम शांति ओम फिल्म के सिलेक्ट कर लिया गया। पहली ही फिल्म में शाहरुख खान जैसे बड़े एक्टर के साथ काम करने का मौका मिला।
    > इस मूवी ने बड़ी सफलता हासिल की। इसके लिए दीपिका को बेस्ट फीमेल डेब्यू अवॉर्ड भी मिला। इसके बाद उन्होंने लगातार बड़ी हिट मूवी दी।
    लर्निंग :मॉडलिंग का अच्छा एक्सपीरियंस होने के बावजूद फिल्मों में आने की जल्दबाजी नहीं की। पहले एकेडमी में स्किल्स डेवलप की।
  • सक्सेस के बाद हुईं डिप्रेशन का शिकार, यूं उबरीं
    > लगातार सक्सेस मिलने के बावजूद 2014 में दीपिका डिप्रेशन का शिकार हो गईं। उन्हें लगा उनकी लाइफ में अब कुछ रह नहीं गया। खुद को डायरेक्शन लेस महसूस कर रही थी। मां से सारी बातें शेयर की। दो साइकोलॉजिस्ट को दिखाया। काउंसलिंग ली।
    > इस दौरान सबसे बड़ा फायदा पहुंचाया मेडिटेशन ने। वे कहती हैं अप और डाउन हर किसी की जिंदगी में आते हैं यह हमारे ऊपर है कि हम नेगेटिव की तरफ ज्यादा जा रहे हैं या नेगेटिव से लर्निंग लेकर पॉजिटिव सोच के साथ लाइफ जी रहे हैं।
    लर्निंग :मुश्किलों से हार नहीं मानी। उपाय ढूंढ़े और डिप्रेशन से बाहर आईं।
  • असफलताओं से सीखकर आगे बढ़ीं
    > फोर्ब्स ने दीपिका को वर्ल्ड की हाईएस्ट पेड एक्ट्रेस की लिस्ट में 10वें नंबर पर शामिल किया था। वे इंडिया की उन एक्ट्रेस में शामिल हो चुकी हैं जो एक्टर से ज्यादा चार्ज करती हैं। मीडिया रिपोर्टर्स के मुताबिक मिडिल क्लास फैमिली से बिलांग करने वाली दीपिका ने बाजीराव मस्तानी के लिए करीब 9 करोड़ रुपए चार्ज किए थे।
    > वे कहती हैं कि लाइफ में सक्सेस पाने के लिए तीन D यानि डेडीकेशन, डिसिप्लिन और डिटरमिनेशन बहुत जरूरी हैं। इनके बाद सक्सेस नहीं पाई जा सकती।
    लर्निंग : पूरी मेहनत और लगन के साथ काम किया जाए तो सक्सेस मिलना तय है।
    लर्निंग :लाइफ में सक्सेस के लिए डेडीकेशन जरूरी होता है।
  • 67 करोड़ रुपए है दीपिका की नेटवर्थ
    > दीपिका पादुकोण ने 12 साल पहले 2004 में अपने मॉडलिंग करियर को शुरू किया था। उनकी नेटवर्थ 67 करोड़ रुपए है। जबकि एक समय ऐसा भी रहा जब मॉडलिंग असाइनमेंट ढूंढने के लिए दीपिका दुबई के चक्कर काटा करती थी। उनकी बहन अनिशा गोल्फ प्लेयर हैं। वे उनकी क्रिटिक भी हैं।
    ये भी पढ़ें...
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Self Help

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×