हर तरफ सड़ी-गली लाश, Experiment के नाम पर छोड़ दी जाती है डेड बॉडी / हर तरफ सड़ी-गली लाश, Experiment के नाम पर छोड़ दी जाती है डेड बॉडी

छात्र लाशों के नष्ट होने की प्रक्रिया यानी डीकम्पोजिंग, बैक्टिरियल इफेक्ट्स और दूसरे तरह की स्टडी करते हैं।

Aug 10, 2015, 12:01 AM IST
(नोट- आगे की स्लाइड्स की कई तस्वीरें बहुत ही वीभत्स हैं।)
ऑस्टिन। टेक्सास स्टेट यूनिवर्सिटी की एन्थ्रोपॉलिजी फोरेंसिक सेंटर (मानव विज्ञान केंद्र) में एक्सपेरिमेंट के लिए डेड बॉडी को सड़ने के लिए छोड़ दिया जाता है। इसके बाद छात्र लाशों के नष्ट होने की प्रक्रिया यानी डीकम्पोजिंग, बैक्टिरियल इफेक्ट्स और दूसरे तरह की स्टडी करते हैं। इसे फ्रीमैन रांच फार्म हाउस के नाम से जाना जाता है। अपने तरह का अनूठा एन्थ्रोपॉलिजी फोरेंसिक सेंटर टेक्सास में सैन मार्कोस से 7 मिल उत्तर-पश्चिम में है।
16 एकड़ क्षेत्र में फैली इस प्रयोगशाला में जब कोई नई डेड बॉडी आती है तो सबसे पहले उसे लैब में ले जाया जाता है, जहां पर उसका नाप-तोल करने के साथ ही ब्लड सैंपल, हेयर सैंपल और उसके फोटोग्राफ्स लिए जाते हैं। इसके बाद उसे एक पहचान नंबर देकर मैदान में खुले में रख दिया जाता है। इसके बाद यूनिवर्सिटी के छात्र उन डेड बॉडी की अलग-अलग प्रक्रिया को समझते हैं।
खुले में रखी जाती है डेड बॉडी
डेड बॉडी को इस फोरेंसिक सेंटर में खुले आसमान के नीचे रखा जाता है। इनमें से कुछ बॉडी को कवर करके तो कुछ बॉडी को बिना कवर के रखा जाता है। बिना कवर वाली डेड बॉडी इसलिए रखी जाती है, ताकि गिद्ध और अन्य जानवर उसे नुकसान पहुंचा सकें। इन अलग-अलग तरीकों के जरिए छात्र डेड बॉडी की डीकम्पोजिंग को समझने का प्रयास करते हैं। इस फार्म की निगरानी हाई क्वालिटी सिक्युरिटी सिस्टम के जरिए की जाती है।
पहले चीनी तरीकों से होती थी फोरेंसिक जांच, अब हैं कई प्रयोगशाला
किसी व्यक्ति की हत्या या मौत से संबंधित जांच को पहले चीन के प्राचीन तरीकों से किया जाता था। लेकिन अलग-अलग अपराधों में हुई हत्या के लिए ये तरीके पर्याप्त नहीं थी। इस बात का अहसास फोरेन्सिक एंथ्रोपॉलोजिस्ट विलियम एम बास को सबसे पहले हुआ। ऐसे में उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ टेनिसी कुछ दशक पहले एंथ्रोपॉलिजिकल रिसर्च फैसिलिटी बनाई। इसके बाद वेस्टर्न कैरोलिना यूनिवर्सिटी, सैम हॉस्टन स्टेट यूनिवर्सिटी, साउथर्न इलिनोइस यूनिवर्सिटी, कोलोराडो मेसा यूनिवर्सिटी सहित टेक्सास यूनिवर्सिटी में भी इस तरह के प्रयोग किए जाने लगे।
आगे की स्लाइड्स में देखें इस फोरेंसिक सेंटर के कुछ और फोटोज...
X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना