• क्या आप जानतें है जनेऊ धारण करने के फायदें

क्या आप जानतें है जनेऊ धारण करने के फायदें

Dec 12, 2021, 11:59 AM IST
क्या आप जानतें है जनेऊ धारण करने के फायदें
हिन्दू धर्म के 16 संस्कारों में से एक उपनयन संस्कार के अंतर्गत ही जनेऊ पहनी जाती है। जिसे यज्ञोपवीत संस्कार भी कहा जाता है।  हिन्दू धर्म में प्रत्येक हिन्दू का कर्तव्य है जनेऊ पहनना और उसके नियमों का पालन करना। हर हिन्दू जनेऊ पहन सकता है बशर्ते कि वह उसके नियमों का पालन करे। ब्राह्मण ही नहीं समाज का हर वर्ग जनेऊ धारण कर सकता है। जनेऊ संस्कार या यज्ञोपवीत भारतीय संस्कृति में एक खास मह्त्व रखता है । पर क्या आप जनेऊ पहनने के कुछ वैज्ञानिक फायदों के बारें में जानते है । सुखद नित्यक्रम जनेऊ धारण करने वाले शख्स को नित्यक्रम क्रिया के दौरान इसे कान के ऊपर लपेटना होता है। ऐसा करने से कान के पास से गुजरने वाली उन नसों पर भी दबाव पड़ता है जिनका संबध आंतों से है। ये नसे आंतों पर दबाव डालकर उनको पूरा खोल देती है। इन नसों पर दबाव पड़ने से कब्ज की शिकायत नही होती है पेट साफ होने पर शरीर और मन दोनों ही सेहतमंद रहते है। कीटाणुओ से सुरक्षा जनेऊ धारण करने वाला शख्स इससे जुड़े नियमो का पालन करता है। वह मूल-मत्र त्याग करते वक्त अपना मुंह बंद रखते है । इस दौरान जनेऊ धारण करने वाले को मौन रहना होता है । यह क्रिया अच्छे से हाथ मुंह धोने तक करनी होती है इसकी आदत पड़ जाने के बाद लोग बड़ी आसानी से गंदे स्थानो पर पाए जाने जीवाणुओ और कीटाणुओ के प्रकोप से बच जाते है। अगर इसे एक वैज्ञानिक रुप में देखा जाए तो यह दिल के रोग और ब्लडप्रेशर से बचाव करता है।  कि जनेऊ पहनने धारण करने वालो को दिल से जुड़ी बीमारियों और ब्लडप्रेशर की आशंका कम होती है। जनेऊ शरीर में खून के प्रवाह को भी कंट्रोल करने में मददगार होता है ऐसा भी देखा गया है कि अक्सर सीने में होने वाले हल्के दर्द भी कान पर जनेऊ लपेटने से ही बंद  हो जाते है। शक्तिवर्धक दाएं कान कान के पास से ऐसी नसे गुजरती है जिसका संबध अंडकोष और गुप्तेद्रियों से होता है । मूत्र त्याग के वक्त दाएं कान पर जनेऊ लपेटने से यह दब जाती है। जिनसे वीर्य निकलता है । ऐसे में जाने – अनजाने शुक्राणुओ की रक्षा होती है । इससे इंसान के बल और तेज में वृध्दि होती है। बुध्दिकौशल कान पर हर रोज जनेऊ रखने और कसने से स्मरण शक्ति बढ़ जाती है। कान पर दबाव पड़ने से दिमाग की वह नसें ऐक्टिव हो जाती है जिनका संबध स्मरण शक्ति से होता है। बॉलीवुड की टॉप 10 सेल्फी क्वीन्ज़ रणवीर सिंह हैं फैशन के अल्टीमेट किंग सेंसर बोर्ड ने “बेगम जान” के काटे कई सीन

कैसा रहेगा अप्रैल फूल अप्रैल फूल

X
क्या आप जानतें है जनेऊ धारण करने के फायदें

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना