--Advertisement--

15 साल उम्र में ही बन गया CEO: घर में बैठे-बैठे ही खुद की फर्म बनाई

युके की इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर एसोसिएशन द्वारा दो अलग-अलग परीक्षाएं दी थीं, जिसमें वह उत्तीर्ण रहा था

Dainik Bhaskar

Mar 30, 2014, 12:02 AM IST
15 year old teenager became CEO
वडोदरा। देश की प्रसिद्ध सिलिकॉन इंडिया कम्युनिटी नामक वेबसाइट द्वारा वडोदरा के एक टीनेजर को ऑनलाइन वेबसाइट डेवपलपिंग बिजनेस, गुजरात का यंगस्ट सीईओ घोषित किया गया है। यह किशोर यूके की इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर एसोसिएशन द्वारा दो अलग-अलग परीक्षाएं भी पास कर चुका है।
वडोदरा के गोत्री इलाके में रहने वाले 15 वर्षीय शेखर चटर्जी, दिल्ली पब्लिक स्कूल (डीपीएस) में कक्षा 10वीं का छात्र है। पिता संजय चटर्जी एलएंडटी कंपनी में मैकेनिकल इंजीनियर के पद पर हैं। मूल कोलकाता के और साल 1997 से वडोदरा में रह रहे संजय चटर्जी के बेटे शेखर को बचपन से ही कम्प्यूटर का शौक था। उसने 8 साल की उम्र में ही कंप्यूटर से जुड़ी कई तकनीकी बारीकियां सीख ली थीं। उसके इस शौक की वजह से ही संजय ने उसे घर में इंटरनेट की सुविधा भी मुहैया करवा दी थी।
वर्ष 2011 में उसने यूके की इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर एसोसिएशन द्वारा वेब डिजाइनिंग और ई-कॉमर्स की परीक्षा दी थी। जिसमें शेखर ने वेब डिजाइनिंग में 89 और ई-कॉमर्स में 93 अंक प्राप्त किए। इसके बाद उसने हॉस्ट डुड सॉल्यूशन नामक एक फर्म की स्थापना की। यह फर्म इंटरनेट वेबसाइट डिजाइनर्स, वेबसाइट डेवलपमेंट, वेबसाइट होस्टिंग, एसएमएस मार्केटिंग सर्विसेज, बल्क एसएमएस सर्विसेज, वेबसाइट डिजाइनिंग एंड डेवलपमेंट, इंटरनेट वेबसाइट फॉर क्रिएशन, इंटरनेट वेबसाइट डेवलपर्स, इंटरनेट डोमेन नेम रजिस्ट्रेशन आदि सर्विस देती है।
अगली स्लाइड्स में पढ़ें, पूरी खबर तस्वीरों के साथ...
15 year old teenager became CEO
सीखने के लिए कम्प्यूटर का की-बोर्ड भी खोल लिया करता था :
 
पिता संजय बताते हैं कि शेखर को बचपन से ही कम्प्यूटर से इतना लगाव था कि वह घर से बाहर खेलने-कूदने भी नहीं निकलता था। उसे पढ़ने के अलावा कराटे और तबला बजाने का भी बहुत शौक है। शेखर अधिकतर समय कम्प्यूटर पर ही बिताया करता था। कई बार तो वह कम्प्यूटर का की-बोर्ड ही खोलकर बैठ जाया करता था, जिससे कि वह कुछ सीख सके।
15 year old teenager became CEO
हर हफ्ते मिल जाते हैं तीन-चार वेब डिजाइनिंग के ऑर्डर :
 
अभी तक शेखर कई कंपनियों की वेबसाइट डिजाइन कर चुका है। शेखर के बताए अनुसार उसे हर हफ्ते तीन-चार वेबसाइट डिजाइन के ऑर्डर मिलते हैं। शेखर ने हाल ही में एक लेटेस्ट एप्लिकेशन भी बनाया है, जो जल्द ही लॉन्च होने वाला है।
15 year old teenager became CEO
शुरुआत में एक-दो लोगों ने ठगा भी, लेकिन हिम्मत नहीं हारी:
 
वेबसाइट डिजाइनिंग से लेकर डेवलपमेंट और होस्टिंग का कार्य करने समय शुरू में शेखर को एक-दो लोगों ने ठगा भी। शुरुआत में शेखर ने एक स्टूडियो की वेबसाइट बनाई थी। यह वेबसाइट पूरी तरह काम भी करने लगा था। लेकिन इसके ऑनर ने बे-मतलब की खामियां गिनाकर पैसे नहीं दिए। इसी तरह शेखर ने फ्रीलांसरडॉटकॉम नाम की एक वेबसाइट भी बनाई थी। इसका पूरा प्रोजेक्ट 72 हजार रुपए में तय हुआ था, लेकिन इसके ऑनर ने भी पैसे नहीं चुकाए। हालांकि इसके बाद भी शेखर ने हिम्मत नहीं हारी और वह अपना काम मन लगाकर करता रहा।
15 year old teenager became CEO
वडोदरा के इस टीनेजर की जितनी तारीफ की जाए कम है : शाह
 
आमतौर पर वेबसाइट डिजाइनिंग और ई-कॉमर्स में कुशल होने में अन्य छात्रों को कई साल लग जाते हैं। लेकिन शेखर ने बहुत छोटी सी उम्र में ही जो कर दिखाया है, उसकी जितनी तारीफ की जाए कम है। निश्चित तौर पर वह आगामी समय में एक विख्यात वेब डेवलपर बनेगा।
 
- मनन शाह, साइबर विशेषज्ञ (वडोदरा)
X
15 year old teenager became CEO
15 year old teenager became CEO
15 year old teenager became CEO
15 year old teenager became CEO
15 year old teenager became CEO
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..