पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • बीईईओ द्वारा प्रताड़ित करने के मामले ने पकड़ा तूल

बीईईओ द्वारा प्रताड़ित करने के मामले ने पकड़ा तूल

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मिड-डेमीलमें प्राथमिक पाठशाला नंबर 2 में अपने चहेते को कुक रखने के लिए खंड शिक्षा अधिकारी पर जेबीटी टीचर राजेश वर्मा द्वारा लगाए गए मामले ने तूल पकड़ लिया है। पूरे मामले में अध्यापक संघ ने डीसी डॉ. साकेत कुमार से मिलकर शिकायत सौंपने की बात कही है। खंड शिक्षा अधिकारी सुधीर कालड़ा द्वारा दिए गए बयान के जवाब में राजेश वर्मा के पक्ष में अध्यापक संघ ने कहा कि उनपर लगाए गए सभी आरोप गलत हैं। राजेश ने बताया कि बीआरपी विजय और सुधीर कालड़ा ने मिलकर उन्हें प्रताड़ित करने के लिए उनसे इसीलिए स्पष्टीकरण मांगा है चूंकि मैंने मिड-डे मील में बीईईओ के चेहते को नियमों की अनदेखी कर नियुक्त करने से इंकार कर दिया था। राजेश ने कहा कि सुधीर कालड़ा द्वारा दिया गया बयान कि जब कुक की एप्लीकेशन स्कूल में आई थी वे स्कूल में नियुक्त नहीं थे सही नहीं है। शिक्षक ने कहा कि वे अपनी ट्रांसफर के बाद 20 अगस्त को सुधीर कालड़ा के पास कार्यभार ग्रहण करने की अनुमति लेने गए थे तब उन्होंने उसे कुक की एप्लीकेशन थमा दी थी। इस एप्लीकेशन पर उनके विभाग की कोई मोहर है ही कोई डायरी नंबर है। ऐसे में वे कैसे उस पर नेसेसरी एक्शन लिखकर दे सकते हैं। कार्रवाई के लिए बाकायदा उन्हें मोहर डिस्पैच नंबर लगाकर यह एप्लीकेशन देनी चाहिए थी।

क्वालिटीचेक के लिए स्पष्टीकरण देना भी बताया गलत :अध्यापक संघ ने कहा कि शिक्षक राजेश कुमार वर्मा जिले के प्रतिष्ठित शिक्षकों में से एक हैं। यही कारण है कि उनकी ड्यूटी अकसर विभिन्न विभागों में कार्यों को पूरा करने के लिए लगाई जाती रही है। यही नहीं उनकी कार्यकुशलता के चलते राजेश को डेपुटेशन पर पंचकूला निदेशालय में भी विभिन्न कार्यों को पूरा करने के लिए भेजा गया है। साथ ही शिक्षक राजेश कुमार ने दो महीने पहले ही ड्यूटी संभाली थी ऐसे में इतने कम समय में उनकी क्वालिटी पर कैसे आंकी जा सकती है समझ से बाहर है है।

^मेरेपास शिक्षक अध्यापक संघ किसी की लिखित में आज तक शिकायत नहीं आई है। जब तक मेरे पास शिकायत ही नहीं आती मैं कैसे कोई कार्रवाई शुरू कर सकती हूं। हां सुधीर कालड़ा जी ने लिखित में शिकायत दी है। वंदनागुप्ता, जिलाशिक्षा अधिकारी