पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • संस्थाओं ने बढ़ाया हाथ सफाई अभियान के साथ

संस्थाओं ने बढ़ाया हाथ सफाई अभियान के साथ

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दैनिकभास्करद्वारा चलाई जा रही स्वच्छ अम्बाला मुहिम के साथ आसपास के गांव के लोग भी बढ़चढ़ कर सफाई में योगदान दे रहे हैं। वीरवार को गांव जनसुआ में स्वच्छता रैली निकालकर गांव की सफाई की गई, लोगों को सफाई के प्रति जागरूक किया गया। इस अवसर पर सरपंच बचन सिंह ने गांव के लोगों को सफाई करने की शपथ दिलाई। इस अवसर पर महिला बाल कल्याण परियोजना अधिकारी वीक्षा रंगा, अपविंद्र कौर, मंजीत सिंह, धर्मपाल, कृष्ण कुमार गांव के अन्य लोगों ने सफाई अभियान में भाग लेकर गांव की सफाई की।

बच्चोंने उठाया सफाई के लिए झाडू: स्वच्छताअभियान के दौरान प्रभु प्रेम पुरम पूजा विहार कॉलोनी के बच्चाें ने गलियों की सफाई कर की। मंजोत, वरदान, द्रविना, चितवन, हर्ष, वैष्णवी, वरिंद्र, दिव्यांशी समेत कई बच्चों ने गलियों में सफाई का संदेश दिया।

कैंट के दशहरा ग्राउंड में सफाई व्यवस्था का निरीक्षण करती एसडीएम प्रियंका सोनी।

एसडी काॅलेज में सफाई अभियान के तहत सफाई करते प्रधानाचार्य नीलम आहुजा, डाॅ. नवीन गुलाटी, डाॅ. शशी राणा काॅलेज के छात्र।

एसडी कॉलेज में विशेष शिविर आयोजित- एसडीकाॅलेज अम्बाला छावनी में स्वच्छता गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए कालेज के एनएसएस, एनसीसी और खेल प्रकोष्ठ के विद्यार्थियों ने एक विशेष शिविर का आयोजन किया। एनएसएस प्रभारी प्राध्यापिका विजय शर्मा के नेतृत्व में चलाए गए इस अभियान में एनएसएस कमांडर रजत शर्मा द्वारा चार इकाईयों का गठन किया गया। सभी चार इकाईयों में कालेज परिसर के अलग-अलग क्षेत्रों में स्वच्छता गतिविधियां चलाई और कूड़े का निपटान किया।

गोकलगढ़ में हुई गलियों की सफाई

मुलाना|स्वच्छहरियाणा- स्वच्छ भारत अभियान के तहत गांव गोकलगढ़, अलीपुर आदि गांवों में सफाई अभियान चलाया गया। सरपंच प्रदीप शर्मा के नेतृत्व में पंचायत सदस्यों ने हाथों में झाडू़ उठाकर गांव की सफाई की। प्रदीप शर्मा ने बताया कि गांव के लोगों में अभियान को लेकर खासा उत्साह है।

नारायणगढ़| उपमंडलके गांव संगरानी में सफाई एवं जागरुकता अभियान का शुभारंभ राजकीय माध्यमिक विद्यालय संगरानी के मुयाध्यापक अनिल सूदन ने किया। उन्होंने बताया कि हमारी सफाई को लेकर जरा सी की गई लापरवाही अनेक बीमारियों को जन्म दे सकती है। उन्होने जागरुकता अभियान के अन्तर्गत बच्चों को समझाया कि वे देश के भविष्य हैं। यदि वे स्वय अपने गांव घर