पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने मलौर को पद से मुक्त करते हुए निलंबित किया

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
(जसबीर मलाैर।)
रोहतक/अम्बाला | भीतरघात करने वालों के खिलाफ भाजपा ने कार्रवाई करनी शुरू कर दी है। पहली गाज गिरी है, प्रदेश सचिव जसबीर मलौर पर। प्रदेश अध्यक्ष रामबिलास शर्मा ने मलौर को पद से मुक्त करते हुए पार्टी से निलंबित कर दिया है। आरोप है कि विधानसभा चुनाव में अम्बाला सिटी सीट पर हरियाणा जनचेतना पार्टी सुप्रीमो विनोद शर्मा की मदद की। अम्बाला कैंट सीट पर भी पार्टी के खिलाफ काम किया। मलौर सिटी हलके से टिकट के दावेदार थे लेकिन पार्टी ने असीम गोयल को टिकट दिया।
एकबारगी तो मलौर ने पार्टी छोड़ने का ऐलान कर दिया। दो दिन पार्टी को खूब आंखें दिखाई लेकिन बाद में केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर उन्हें मनाने पहुंचे तो मलौर पार्टी में वापसी को राजी हो गए। इस दौरान वो पार्टी प्रत्याशी के प्रचार में भी एक-दो बार नजर आए। दूसरी तरफ भाजपा के प्रदेश कार्यालय ने रिपोर्ट दी कि मलौर ने पार्टी के खिलाफ दुष्प्रचार किया।
पार्टी मेरी मां है और बेटा मां के साथ कैसे गद्दारी कर सकता है : मलौर
भाजपा मेरी मां है और बेटा कैसे अपनी मां को धोखा दे सकता है? यह कहना है भाजपा के प्रदेश सचिव जसबीर मलाैर का। उन्होंने हैरानी जताते हुए कहा कि उन्हें मीडिया से जानकारी मिली है कि पार्टी ने उन्हें निलंबित किया है, जबकि उनके पास इसकी जानकारी नहीं है। हालांकि मलौर ने स्वीकार किया कि शहर विधानसभा सीट से जब उनका टिकट कटा तो उन्हें दुख हुआ था। बाद में केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर और सुषमा स्वराज के समझाने पर उन्होंने पार्टी के लिए जी जान से काम किया और हारी हुई सीट पर भाजपा को जीत दिलाई।
वहीं दूसरी ओर विधायक असीम गोयल ने कहा कि पार्टी की ओर से उन्हें मलौर के निलंबन की जानकारी नहीं मिली है। उन्होंने पार्टी के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि यह कार्यवाही उचित है क्योंकि पार्टी मां के समान होती है और मां को धोखा देना अपराध है। इस कार्यवाही से भाजपा को नुकसान पहुंचाने वाले अन्य लोगों को सबक मिलेगा।
आगे की स्लाइड में पढ़िए पूरी खबर...