पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शिवालिक क्षेत्र का विकास रेल ट्रैक पर

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
चंडीगढ़. रेल बजट में जगाधरी, साढौरा वाया नारायणगढ़-चंडीगढ़ तक रेल लाइन मंजूर होने की घोषणा के बाद अब युनानगर समेत पूरे उत्तर हरियाणा का विकास अब पटरियों पर दौड़ेगा।
क्षेत्र की यह 40 साल पुरानी मांग थी। रेल मंत्री ने अपने बजट में इस लाइन को बनाने की स्वीकृत प्रदान कर दी है। इधर, डीआरएम, पीके सांघी ने बताया कि जगाधरी-चंडीगढ़ रेल लाइन के लिए 876 करोड़ रुपए मिल गए हैं।
इस रेल लाइन को लेकर सालों तक खूब राजनीति भी होती रही है। शिवालिक की पहाड़ियों में स्थित साढौरा क्षेत्र उद्योगों के क्षेत्र में पिछड़ा हुआ है। इसकी वजह है यहां परिवहन के साधन न होना। साढौरा के विधायक राजपाल भूखड़ी ने बताया कि इस क्षेत्र में रेल चाहिए। रेल होने से यहां उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। यह क्षेत्र शिवालिक की पहाड़ियों से घिरा हुआ है। जिसे घाड क्षेत्र कहा जाता है। यह पूरी तरह से उपेक्षित क्षेत्र है। आने जाने के लिए लोगों के पास साधन कम है।
ऐसे में यहां यदि रेल चलती है तो क्षेत्र में विकास की नई संभावना पैदा होगी। इससे यहां के युवा शिक्षा के लिए बाहर के क्षेत्र में आ जा सकते हैं। चंडीगढ़ तक यहां के लोगों की पहुंच हो जाएगी। पटरी होने से माल गाड़ी चलेगी, जिससे यहां उद्योग की संभावना पैदा होगी। इससे क्षेत्र में रोजगार के अवसर पैदा होंगे। इधर, घाड़ संघर्ष समिति के अध्यक्ष सुलतान सिंह ने बताया कि यह क्षेत्र अभी तक उपेक्षित है। रेल लाइन की मांग यहां ४क् साल पुरानी है। लेकिन अभी तक आश्वासन ही मिल रहे हैं।
रेलवे मंत्री ने इस लाइन को मान लिया है। ऐसे में उम्मीद तो बन रही है। लेकिन बात तो तभी बनेगी जब यह मांग पूरी होगी।
नाम नहीं बदल सका जगधरी का
चंडीगढ़. हरियाणा को रेल बजट में बहुत कुछ मिलने पर मंगलवार को विधानसभा में धन्यवाद प्रस्ताव पारित किया गया। विधानसभा में मंगलवार को संसदीय कार्यमंत्री रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि हरियाणा को रेल बजट में बहुत कुछ मिला है।
उन्होंने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह एवं रेलमंत्री पवन बंसल का आभार प्रकट करते हुए धन्यवाद प्रस्ताव पेश किया, जिसे पारित कर दिया गया। इस प्रस्ताव पर इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने कहा कि इनेलो कोच फैक्टरी का स्वागत करती है, लेकिन इसे सोनीपत की जगह सिरसा, मेवात, जींद या अन्य किसी पिछड़े क्षेत्र में लगाया जाए।
सोनीपत दिल्ली से सटा संपन्न क्षेत्र है। इसके बाद विधायक व मंत्री रेल कोच फैक्टरी को अपने-अपने क्षेत्रों में लगाने का आग्रह करते नजर आए। अंबाला सिटी के विधायक विनोद शर्मा ने कहा कि उनका क्षेत्र पिछड़ा है इसलिए रेल कोच फैक्टरी अंबाला जिले में लगाई जानी चाहिए। किरण चौधरी ने जब इसे भिवानी में लगाने की अपील की तो सतपाल सांगवान ने उनका समर्थन किया। नूंह के विधायक आफताब अहमद ने फैक्टरी मेवात को देने की मांग की।