पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Idol Immersion In The Yamuna Had Landed, Two Young Men Drowned

मूर्ति विसर्जन करने यमुना में उतरे थे, दो युवक डूब गए

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

फरीदाबाद. नवीन नगर पुलिस चौकी के इलाके में मां सरस्वती की मूर्ति विसर्जन के दौरान तीन युवक यमुना नदी में डूब गए। इनमें से दो की मौत हो गई जबकि एक युवक बच गया। एक युवक के शव को बाहर निकाल लिया गया। दूसरे युवक के शव का कहीं पता नहीं लगा है।

दिल्ली से आए मर्चेंट नेवी के गोताखोर ने सोमवार दिनभर शव की तलाश की लेकिन समाचार लिखे जाने तक शव का पता नहीं लगा। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने युवक के शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया।


कैसे हुआ हादसा : रविवार को शहर के कई इलाकों में मां सरस्वती की पूजा-अर्चना की गई। तिलपत गांव के पास सूरदास कॉलोनी में रहने वाले लोग उपासना के बाद मां सरस्वती की मूर्ति को यमुना नदी में विसर्जित करने ले गए।

रविवार शाम को नवीन नगर पुलिस चौकी क्षेत्र के तहत यमुना नदी के पास जाकर मूर्ति का विसर्जन करने के लिए पांच युवक नदी में उतर गए। नदी का तेज बहाव होने के कारण मूर्ति विसर्जित करने के दौरान तीन युवक बह गए।
इनमें से एक युवक जैसे-तैसे किनारे पर आ गया लेकिन दो युवक बह गए।

इनमें से सूरदास कॉलोनी निवासी चंद्रशेखर (१८) के शव को कुछ देर बाद निकाल लिया गया जबकि इसी कॉलोनी के दिनेश पाल (२६) के शव का कहीं पता नहीं लगा। यमुना नदी में डूबने से बचने वाले युवक का नाम रमन झा है। इस घटना की सूचना मिलते ही नवीन नगर से पुलिस की टीम मौके पर आ गई।

इसके बाद कुछ स्थानीय गोताखोरों की मदद से नदी में लापता हुए युवक की तलाश की लेकिन उसका कहीं पता नहीं लगा। सोमवार को पुलिस ने दिल्ली से मर्चेंट नेवी के गोताखोरों की टीम को बुलाया। नेवी के गोताखोर चार घंटे तक नदी में युवक के शव को तलाशते रहे लेकिन शव का पता नहीं लगा।