पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Overseas Guests Have Begun To Return Home As Soon As Warm

गर्माहट शुरू होते ही घर लौटने लगे हैं प्रवासी मेहमान

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

बल्लभगढ़. सर्दी में आए विदेशी परिंदे अब मौसम में गर्माहट शुरू होने से वतन की ओर लौटने लगे हैं। इनके कलरव से करीब तीन माह से गुलजार रही झील और तालाब अब सूने नजर आने लगे हैं। इस साल एनटीपीसी के पास झील में लगभग 3000 विदेशी पक्षी मेहमान के रूप में आए थे।

इन विदेशी पक्षियों की कई प्रजातियां यहां पहुंची थीं। प्रशासन ने इन पक्षियों की सुरक्षा के लिए वन्य और सुरक्षा कर्मी तैनात किए थे। मौसम में आए बदलाव के बाद पक्षी स्वदेश लौटने लगे हैं। अब कुछ ही पक्षी रह गए हैं।


विदेशी पक्षी पहुंचे यहां : एनटीपीसी के समीप हर वर्ष साइबेरिया से लंबी उड़ान भर कर कई दुर्लभ प्रजातियों के बड़ी संख्या में पक्षी आते हैं। इनमें पेंटेड स्टॉक, पिंटेल, साइबेरियन क्रेन व कूट्स जैसी प्रजातियों के विदेशी पक्षी शामिल हैं।

वन्य प्राणी अधिकारी डेलचंद सागर के अनुसार एनटीपीसी के समीप स्थित झील में विदेशी पक्षियों का आना इस बार नवंबर में शुरू हुआ था। इस बार यहां पेंटेड स्टॉक, पिंटेल व कूट्स जैसी दुर्लभ प्रजातियों के विदेशी पक्षी पहुंचे थे।

साइबेरियाई पक्षी बार हेडेड गूज की गूंज भी यहां सुनने को मिली। इनकी खासियत यह होती है कि ये झुंड में रहकर वी शेप में उड़ान भरते हैं। एनटीपीसी झील में इस बार करीब 3000 पक्षी पहुंचे थे।


सुरक्षा के थे इंतजाम
इन पक्षियों की सुरक्षा को लेकर प्रशासन ने विशेष इंतजाम किए थे। शिकार से बचाने के लिए इन विदेशी पक्षियों की लगातार मानिटरिंग की जाती थी। ग्रामीणों को इनके शिकार न करने के लिए चेतावनी पहले से ही दे दी गई थी। झील के पास चेतावनी बोर्ड भी लगाए गए थे।

गुपचुप तरीके से भी वन्य विभाग के कर्मचारी यहां नजर रख रहे थे। एनटीपीसी के अधिकारियों के अनुसार ये पक्षी अब लौटने लगे हैं। फरवरी में मौसम गर्म होने के साथ ही झील में इनकी संख्या बिल्कुल कम हो गई है। बचे पक्षी भी जल्द ही उड़ान भर लेंगे।