‘ये दौलत भी ले लो, ये शौहरत भी ले लो’ गजल से सुरमयी हुई शाम

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गुड़गांव. सांस्कृतिक कार्यक्रमों की श्रृंखला में इस शनिवार की शाम गजलों के नाम रही। ‘ये दौलत भी ले लो, ये शौहरत भी ले लो’ जैसी बेहतरीन गजलों से सेक्टर-4 स्थित बाल भवन का मंच सुरमयी हो गया। गुड़गांव की गजल एवं सूफी गायिका रुखसार खान ने अपनी सुरीली आवाज का जादू बिखेरा। अब 20 फरवरी को नटसम्राट ग्रुप दिल्ली के कलाकार हास्य नाटक ‘कंजूस’ का मंचन करेंगे।
सरस्वती वंदना से कार्यक्रम की शुरूआत हुई
सुरीली सांझ में रूखसार खान ने सरस्वती वंदना से कार्यक्रम की शुरूआत की। उन्होंने अपने गुरू एवं नानाजी उस्ताद झम्मनमीर द्वारा लिखित गजल ‘दर्द दिल से जुदा नहीं होता, जिंदगी का पता नहीं होता’ सुनाकर उपस्थित लोगों की खूब तालियां बटोरी। रूखसार ने मशहूर गजल ‘आज जाने की जिद ना करो’ भी श्रोताओं की फरमाइश पर सुनाई।
श्रोताओं को थिरकने पर मजबूर कर दिया
उन्होंने सूफियाना अंदाज की भी खूब छटा बिखेरी तथा ‘संग हर सख्स ने हाथों में उठा रखा है, जब से तूने मुझे दीवाना बना रखा है’ ‘ओ लाल मेरी पत रखियो’ और ‘छाप-तिलक सब छीन ली मोसे नैना मिलाके’ सहित कई बेहतरीन नगमें पेश किए। यही नहीं, रूखसार ने अल्लाह-अल्लाह हू तथा जुगनी सुनाकर श्रोताओं को थिरकने पर भी मजबूर कर दिया।
कार्यक्रम में तबला वादन तिलक शर्मा, ढ़ोलक वादन नवीन, हारमोनियम वादन राधेश्याम, की-बोर्ड अतुल बेनीवाल तथा ऑक्टोपैड पर दीपक कुमार ने कलाकारों का साथ दिया और नेहा जांगड़ा तथा शोएब ने गायन में रूखसार के साथ सुर में सुर मिलाया।
कौन-कौन थे मौजूद
इस मौके पर संस्कार भारती के महामंत्री राम बहादुर ने कलाकारों को मोमेंट भेंट करके सम्मानित किया। कार्यक्रम में मंच संचालन शिक्षाविद अर्जुन वशिष्ठ द्वारा किया गया। इस मौके पर नगर निगम के सांस्कृतिक सलाहकार विश्व दीपक त्रिखा, रंगकर्मी अरूण मारवाह व रजनीश भनोट आदि मौजूद थे।
पांच वर्ष की उम्र से शुरू किया गायन
श्रोताओं से मुखातिब होते हुए रुखसार ने बताया कि उन्होंने 5 वर्ष की उम्र में गायन शुरू किया था तथा अपने नाना उस्ताद झम्मनमीर से संगीत की शिक्षा हासिल की। अब वे दिल्ली विश्वविद्यालय से संगीत में एमए कर रही हैं। रूखसार आवाज पंजाब दी-2015 में टॉप-20 फाइनलिस्ट रह चुकी हैं तथा सारेगामापा ओपन सिंगिंग शो-2004 की विजेता भी हैं। उनकी सहयोगी नेहा जांगड़ा सैक्टर-14 स्थित राजकीय महाविद्यालय से स्नात्तक की पढ़ाई कर रही हैं।
खबरें और भी हैं...