पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Cyber ​​City Is Now Afraid Of People In Trouble A Power Cut

अब साइबर सिटी में लोगों को नहीं सताएगा बिजली कटने का डर

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

गुडग़ांव. साइबर सिटी के लोगों को इस साल गर्मियों में बिजली कट का भय नहीं सताएगा। बिजली विभाग कम से कम 20 घंटे बिजली देने की तैयारी कर रहा है। गुडग़ांव की 7 हजार मेगावॉट बिजली की डिमांड को पूरा करने के लिए विभाग पहले ही तैयार है।

इसके साथ ही मेवात और गुडग़ांव में बिजली चोरी रोकने और लाइन लॉस कम करने के लिए इस साल 160 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। सिर्फ लाइन लॉस कम होने से विभाग को 10 करोड़ रुपए वार्षिक की अतिरिक्त आय होगी।

रीवैंपिंग गुडग़ांव इलेक्ट्रिसिटी सेक्टर पर आयोजित वर्कशाप में दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम लिमिटेड के जीएम संजीव चोपड़ा ने ये बातें कहीं।

उन्होंने कहा कि प्रदेश को 1400 मेगावॉट बिजली अदानी से मिली है और 600 मेगावॉट क्षमता वाला यमुनानगर प्लांट भी सुचारू रूप से चल गया है। इस बार कोयला का भंडार भी बढ़ाया गया है, ताकि आपात स्थिति में लोगों को किसी तरह की परेशानी न हो।


160 करोड़ से सुधरेगी स्थिति: चोपड़ा ने बताया कि गुडग़ांव में सप्लाई की जाने वाली बिजली में तकरीबन 12 प्रतिशत लाइन लॉस होता है।

आधुनिक तकनीक अपनाने के चलते तकरीबन 2 प्रतिशत लाइन लॉस कम किया जा सकता है। इससे विभाग को 10 करोड़ रुपए का फायदा होगा। इसके साथ ही गुडग़ांव के जिन इलाकों में इंसुलेटेड तार नहीं हैं, वहां ये डाली जानी हैं।


इसके लिए 100 करोड़ रुपए का बजट विभाग के पास है। यह कार्य अप्रैल से शुरू हो जाएगा और दिसंबर तक पूरा होगा। इसके अतिरिक्त मेवात में भी बिजली चोरी बहुत ज्यादा है, जिसे रोकने के लिए 60 करोड़ रुपए की लागत से वहां भी इंसुलेटेड तार डाली जाएंगी।


किसी को न दें घूस: जीएम ने माना कि बिजली कर्मचारियों द्वारा कार्य करने के लिए घूस मांगने की शिकायतें हमेशा मिलती रही हैं। इस तरह के अधिकतर मामलों में आरोप साबित करने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं होते, जिसके कारण आरोपी कर्मचारी बच जाते हैं।

यह प्रक्रिया यूं ही चलती रहती है। लोगों को चाहिए कि सरकारी नियमों के मुताबिक अपने कागज पूरे करें और किसी कर्मचारी को घूस न दें।