पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • राज्यसभा में कुमारी सैलजा ने उठाई यूरिया के लिए किसानों की आवाज

राज्यसभा में कुमारी सैलजा ने उठाई यूरिया के लिए किसानों की आवाज

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्वकेंद्रीय मंत्री राज्यसभा सांसद कुमारी सैैलजा ने शुक्रवार को राज्यसभा में शून्यकाल के दौरान प्रदेश में यूरिया खाद की सप्लाई की कमी का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि प्रदेश के खाद के लिए लोगों को थाने के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। किसानों की यह दुर्दशा प्रदेश केंद्र सरकार की नाकामी को दर्शाता है। ऐसा किसी भी प्रदेश देश में पहली बार हुआ होगा, जब किसानों महिलाओं को खाद के लिए पुलिस थानों के चक्कर काटने पड़े और लाठियां खानी पड़ी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश को नंवबर 2014 को 1.90 लाख मीट्रिक टन यूरिया मिला, जबकि प्रदेश का कोटा 2.65 लाख मीट्रिक टन था। मोदी सरकार ने सत्ता में आते ही खाद का आयात कम कर दिया। भाजपा सरकार ने जून 2014 से अक्टूबर 2014 तक केवल 17. 50 लाख मीट्रिक टन ही आयात किया है। भाजपा सरकार का प्रयास है कि यूरिया की कीमत को भी तेल की कीमतों की भांति अंतरराष्ट्रीय बाजार की तरह डी रेगुलेट कर दिया जाए। इससे किसानों को भारी नुकसान होगा।