• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • ऑनलाइन पंजीकरण नहीं तो रद्द होंगे शस्त्र लाइसेंस

ऑनलाइन पंजीकरण नहीं तो रद्द होंगे शस्त्र लाइसेंस

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दूसरेराज्यों में शस्त्र लाइसेंस बनवाकर दोबारा प्रदेश में नवीनीकरण को आवेदन करने वाले करीब 300 धारकों के लाइसेंस प्रशासन अवैध घोषित कर सकता है। विभाग की ओर से नोटिस भेजने के बाद भी कई लाइसेंस धारक रुचि नहीं दिखाई दे रहे। अब प्रशासन ने 31 मार्च तक ऑनलाइन फीडिंग कराने का अंतिम समय दिया है। इसके बाद साॅफ्टवेयर पर फीड करने वाले लाइसेंस को प्रशासन अवैध मानेगा। गौरतलब है कि नवीन आयुध नियम के अनुसार प्रत्येक शस्त्र लाइसेंस पर यूआईएन नंबर होने अनिवार्य है। यह नंबर पाने के लिए लाइसेंस धारकों को एनडीएल सॉफ्टवेयर पर जानकारी दर्ज करानी होगी।

जिले में ऐसे करीब 300 लाइसेंस धारक हैं, जिन्होंने साॅफ्टवेयर पर फीडिंग ही नहीं कराई। इसमें वह धारक शामिल हैं जोकि हिसार के स्थायी निवासी तो हैं लेकिन उन्होंने दूसरे जिलों या राज्यों से लाइसेंस बनवा कर दोबारा पंजीकरण या नवीनीकरण को हिसार शस्त्र लाइसेंस कार्यालय में आवेदन किया है।

अथॉरिटी नहीं दे रही एनओसी

जिलाप्रशासन ने ऑनलाइन जानकारी देने वाले धारकों को लाइसेंस जारी करने वाली अथॉरिटी को बार-बार पत्र लिखकर एनओसी जारी करने को कहा है, लेकिन यह मामला लंबित ही है। एनओसी मिलने के कारण विभाग इस ओर आगे की कार्यवाही भी नहीं कर पा रहा। ऐसे में इस बार विभाग ने नोटिस जारी कर ऑनलाइन जानकारी देने वाले सभी लाइसेंस धारकों को आखिरी समय दे दिया है।

खबरें और भी हैं...