ग्रामीणों ने किया पिलर बॉक्स का विरोध

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गांवसातरोड निवासियों ने बिजली निगम की ओर से गांव में लगाए जा रहे पिलर बाॅक्स का विरोध किया है। उन्होंने कहा कि गांव को नगर निगम में शामिल तो कर लिया गया है, लेकिन ग्रामीण मूलभूत सुविधाओं के लिए भी तरस रहे हैं।

यह फैसला बाबा हरसुख पुरी युवा क्लब के सातरोड संघर्ष समिति की बैठक में लिया गया। बैठक की अध्यक्षता के प्रधान सतबीर ग्रेवाल क्लब के अध्यक्ष अनिल शर्मा ने की। अनिल शर्मा ने बताया कि जब से सातरोड़ खास एवं खुर्द गांव को पंचायत से हटाकर निगम में शामिल किया गया तब से लेकर आज तक सातरोड़ निवासी विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना कर रहे हैं। सातरोड़ की गलियों में गंदगी इस कद्र फैली हुई है कि बच्चे स्कूल जाने में भी असमर्थ हैं। संघर्ष समिति के प्रधान सतबीर ग्रेवाल ने बताया कि जब भी सातरोड़ क्षेत्र से जुड़ी किसी भी प्रकार की समस्या के निवारण के बारे में निगम प्रशासन को अवगत करवाया जाता है तो कोई कार्यवाही नहीं होती, लेकिन अवैध वसूली के नियम जबरदस्ती जनता पर थोपे जा रहे हैं। पंचायत में सभी ने मिलकर फैसला लिया कि जब तक उनके क्षेत्र की समस्याओं का समाधान नहीं होता, तब तक यहां पर पिलर बॉक्स नहीं लगने देंगे और किसी भी सूरत में शासन प्रशासन को मनमानी नहीं करने दी जाएगी। इस अवसर पर डॉ. जयसिंह सैनी, पूर्व सरपंच राजकुमार ग्रेवाल, भूतपूर्व सरपंच दयानंद सैनी, अनिल शर्मा, प्रताप फौजी, सुरजीत सैनी, ओमप्रकाश नागर, सुभाष नागर, हवा सिंह मैंबर, टेकचंद ग्रेवाल आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...