• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • जमीन कब्जाने में पिता पुत्र पर जानलेवा हमला करने के चारों आरोपी दोषी करार

जमीन कब्जाने में पिता-पुत्र पर जानलेवा हमला करने के चारों आरोपी दोषी करार

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मंगालीमोहब्बत गांव में चार साल पहले जमीन पर कब्जे को लेकर कुछ लोगों द्वारा की गई फायरिंग के मामले में अतिरिक्त सेशन जज परमवीर निज्जर ने शनिवार को चार आरोपियों को दोषी करार दिया। जबकि 10 अन्य आरोपियों साक्ष्यों के अभाव में बरी कर दिया। अदालत ने सजा सुनाए जाने के लिए 13 अक्टूूबर की तिथि तय की है।

मंगाली मोहब्बत वासी कृष्ण ने पुलिस को बताया कि गांव में उसने साढ़े तीन एकड़ जमीन खरीदी थी। इस जमीन उसका एवं उसके परिवार का कब्जा है। बिजली घर के सामने की इस जमीन से गांव का ही रामधारी सिं कब्जा छुड़वाना चाहता है। उसने पहले भी कई बदमाशों को साथ लेकर जमीन से कब्जा हटवाने का प्रयास किया था। लेकिन सफल नहीं हुआ था। उसने बताया कि 27 अप्रैल को 1 बजे के करीब वह इस जमीन पर पेड़ के बैठा था। उसके पास उसका भाई शेर सिंह, भतीजा सुभाष, सालमखेड़ा निवासी जयनारायण भी बैठे थे। इसी दौरान 5-6 गाड़िया मंगाली की ओर से आयी। इनमें 15-20 लोग थे। इनके पास बंदूकें और पिस्तौले थीं। उन्होंने खेत में ट्रैक्टर चला उसके भतीजे सुभाष को रोकने की कोशिश की। लेकिन उसने ट्रैक्टर नहीं रोका। इसी दौरान हमलावरों ने फायरिंग शुरू कर दी। इस दौरान शेर सिंह बचाने के लिए गया तो उन्होंने उसे निशाना बनाते हुए गोली चला दी। गोली शेर सिंह के बाजू में लगी और सुभाष के कमर में लग गई। जिससे पिता पुत्र दोनों घायल हो गए। बचाव में कृष्ण पक्ष के लोगो ने हमलावरों को लाठी डंडों से खदेड़ दिया। पुलिस ने तफ्तीश के बाद 14 आरोपियों में सुरेवाला वासी सत्यवान, ढाणी गोपाल वासी महेंद्र सिंह, राजेश, सुरेवाली सुखवीर सिंह, मनोज, संतलाल, जगदीश, देंवेंद्र, संदीप, सुभाष, रामधारी, अनिल, कृश्ण एवं एक अन्य खिलाफ चार्जशीट दाखिल की।

खबरें और भी हैं...