तीन साल बाद न्योली कलां आरओबी की आई याद

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बगलारोड स्थित न्योली कलां रेलवे फाटक पर तीन साल पहले प्रदेश सरकार द्वारा मंजूर किए जा चुके ओवरब्रिज की रेलवे को अब याद आई है। ओवरब्रिज की फिजिबिलिटी को चेक करने के लिए पीडब्लूडी रेलवे के अधिकारी फाटक पर पहुंचे और ड्राइंग को चेक किया। पीडब्लूडी ने रेलवे की मंजूरी मिलने के बाद जल्द ही काम शुरू होने की उम्मीद जताई है।

सरकार से ओवरब्रिज की मंजूरी मिलने के बाद पीडब्लूडी ने अपनी इस योजना को रेलवे के पास मंजूरी के लिए भेजा था। मगर तीन साल तक रेलवे ने फाटक पर आकर रेलवे ट्रैक और ओवर ब्रिज की फिजिबिलिटी चेक करने की जहमत तक नहीं उठाई। हर बार कोई कोई आपत्ति लगाकर ओवरब्रिज का काम रोका गया। तीन साल बाद अब रेलवे के कार्यकारी अभियंता जीएल पांडर ओवरब्रिज के निर्माण को लेकर हिसार पहुंचे और पीडब्लूडी के एक्सईएन राय सिंह के साथ न्योली कलां फाटक पर जाकर मौके का मुआयना किया।

गौरतलब है कि हिसार-भादरा वाया बगला जाने वाले रोड पर दो जगहों पर रेलवे फाटक पड़ते हैं। इसमें पहला गांव न्योली कलां दूसरा आदमपुर में पड़ता है। पीडब्लूडी ने लगभग तीन साल पहले इस रोड पर भविष्य में बढ़ने वाली वाहनों की भीड़ को देखते हुए सरकार को न्योली कलां रेलवे फाटक पर ओवरब्रिज बनाने का प्रस्ताव भेजा था।

प्रदेश सरकार ने पीडब्लूडी के इस प्रस्ताव को तीन साल पहले ही मंजूरी दे दी थी। मंजूरी देने के साथ ही सरकार ने ओवरब्रिज के निर्माण के लिए 25 करोड़ की राशि भी जारी कर दी थी। परंतु रेलवे की लेट-लतीफी के चलते ओवरब्रिज को लेकर अभी तक यहां एक ईंट भी नहीं लगाई जा सकी है।विभाग के अधिकारियों का कहना है कि तीन साल पहले जब इस ओवरब्रिज का प्रस्ताव तैयार किया गया था तो उस समय इस सड़क पर यातायात मात्र 30 प्रतिशत था। वहीं अब इसका सड़क का प्रयोग पहले से अधिक किया जाने लगा है। फिलहाल यहां पहले से दोगुना यातायात हो गया है। यहां आगे भी यातायात बढ़ने की संभावना है।

^ओवरब्रिज को लेकर रेलवे के अधिकारी न्योली कलां फाटक पर पहुंचे थे। जैसे ही रेलवे की ओर से मंजूरी मिलेगी ओवरब्रिज की टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।\\\'\\\' -रायसिंह, एक्सईएन, पीडब्लूडी।

बगला रोड फिलहाल दो नेशनल हाईवे से जुड़ गया है। इस रोड की शुरुआत जहां हिसार-सिरसा नेशनल हाईवे से होती है तो वहीं कैथल-झूंपा नेशनल हाईवे भी इसी सड़क से होकर गुजरता है। इसके अलावा गांव सातरोड़ से शुरू होकर तोशाम रोड, कैमरी रोड, राजगढ़ रोड बालसमंद रोड से होकर निकलने वाला साउथ बाइपास भी इसी सड़क पर निकलता है।

न्योली कलां फाटक पर निरीक्षण करते पीडब्ल्यूडी रेलवे के अधिकारी।

खबरें और भी हैं...