• Hindi News
  • Great News: Government Hospital Will Be Free For Pregnant Women Ultrasound

खुशखबरी: सरकारी अस्पताल में मुफ्त होंगे गर्भवती महिलाओं के अल्ट्रासाउंड

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

हांसी. अब सिविल अस्पताल आने वाली गर्भवती महिलाओं के जरूरत पडऩे पर निशुल्क अल्ट्रासाउंड किए जाएंगे। हालांकि सिविल अस्पताल में अभी अल्ट्रासाउंड मशीन नहीं है लेकिन जनस्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए वैकल्पिक व्यवस्था तैयार की है।


सिविल अस्पताल में दाखिल गर्भवती महिला को अल्ट्रासाउंड करवाने के लिए शहर के प्राइवेट अल्ट्रासाउंड सेंटर पर भेजा जाएगा। विशेष बात यह है कि ऐसी गर्भवती महिलाओं से कोई फीस नहीं वसूली जाएगी।

इन महिलाओं का अल्ट्रासाउंड करने वाले प्राइवेट सेंटर को हैल्थ डिपार्टमेंट द्वारा अदायगी की जाएगी। एक वर्ष पूर्व हैल्थ डिपार्टमेंट द्वारा जारी की गई योजनाओं पर अमल होना शुरू हो गया है।


सरकार द्वारा शुरू की गई जननी शिशु सुरक्षा (जेएसएस) योजना को लागू करने के उद्देश्य से शनिवार को सिविल सर्जन डा. अशोक चौधरी ने सिविल अस्पताल में डॉक्टरों की बैठक ली। उन्होंने बताया कि ऐसी महिलाओं को गर्भ धारण करने के बाद से तमाम चिकित्सकीय सुविधाओं का खर्च सरकार द्वारा ही वहन किया जाएगा।

इसके अलावा सिजेरियन डिलीवरी के लिए भी कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा। डिलीवरी के बाद पैदा होने वाले बच्चें के स्वास्थ्य संबंधी तकलीफों के खर्च से भी एक वर्ष तक हैल्थ डिपार्टमेंट निपटेगा।


मेडिकल ऑफिसर को हिदायत दी गई है कि अगर बच्चों की दवा सिविल अस्पताल में उपलब्ध नहीं है तो बाजार से मंगवा कर निशुल्क मुहैया करवाई जाए। इसका भुगतान सरकारी होगा।

बच्चे को अगर तकलीफ होती है तो इमरजेंसी की स्थिति में सरकारी एंबुलेंस बिना किसी शुल्क के उसे घर से ले जाने और छोड़ जाने की जिम्मेवारी निभाएंगी। गर्भवती महिला और बच्चे के किसी केस में अगर ब्लड प्रोड्क्ट की जरूरत पड़ती है तो उसका भी प्रबंध अस्पताल प्रशासन अपने स्तर पर निशुल्क करेगा।