नायब तहसीलदार को विजिलेंस टीम ने दो लाख रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

हिसार/हांसी। शहर विजिलेंस टीम ने शनिवार को इंस्पेक्टर भूपेंद्र शर्मा के नेतृत्व में जींद के नायब तहसीलदार शमशेर सिंह को पुट्ठी के सरपंच बलराज से दो लाख रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोप है कि नायब तहसीलदार जमीन की रजिस्ट्री करने के एवज में रिश्वत ली।

विजिलेंस टीम के इंचार्ज भूपेंद्र सिंह ने बताया कि शमशेर सिंह को हांसी के हिसार मार्ग स्थित होटल भाईजी पर 2 लाख की रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया है। शमशेर पैसे जेब में रखकर होटल पर खड़ा होकर मिठाई खा रहा था। गिरफ्तारी के बाद विजिलेंस टीम नायब तहसीलदार को अगली कार्रवाई के लिए हिसार लाई है।

भूपेंद्र सिंह ने बताया कि जानकारी मिली थी कि क्षेत्र के पुट्ठी गांव के सरपंच बलराज सिंह ने करीब 20 दिन पहले जींद जिला के अलेवा कस्बे में 13 एकड़ जमीन खरीदी थी। बलराज ने आरोप लगाया कि जमीन की रजिस्ट्री और इंतकाल के करने के एवज में नायब तहसीलदार शमशेर सिंह ने उससे 10 लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी। इस पर बलराज ने रजिस्ट्री कराने के लिए नायब तहसीलदार को 24 मार्च को 8 लाख रुपये रिश्वत के तौर पर दिए। इसके बावजूद जमीन का इंतकाल नहीं किया गया। नायब तहसीलदार शमशेर सिंह उससे 2 लाख रुपये की और मांग करने लगा। इसके बाद बलराज ने मामले की जानकारी विजिलेंस ब्यूरो के एसपी को दी।

एसपी ने शिकायत के आधार पर इंस्पेक्टर भूपेंद्र शर्मा के नेतृत्व में टीम बनाई। नायब तहसीलदार शमशेर सिंह को रंगे हाथ पकडऩे के लिए जाल बिछाया। शिकायतकर्ता बलराज सिंह ने योजनाबद्ध तरीके से शमशेर सिंह को हांसी शनिवार को बुलाया। शमशेर सिंह हिसार में किसी बैठक में शामिल होने आया था। बलराज ने उसे शेष 2 लाख के भुगतान के लिए हांसी के होटल भाईजी पर बुलाया था। यहां पर बलराज ने जैसे ही उसे 2 लाख रुपये की रिश्वत दी विजिलेंस की टीम ने उसे रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। विजिलेंस टीम में इंस्पेक्टर भूपेंद्र शर्मा, एसआई गोपालाराम, राजकुमार, एएसआई जिले सिंह, हेड कांस्टेबल जगदीश, रामफल, नरेश कुमार व सतपाल शामिल थे।

कुछ यूं हुआ घटनाक्रम

शाम करीब पांच बजे दस लोग होटल भाईजी पहुंचे और दो टेबल पर बैठे। उन्होंने दस कप चाय और एक किलो पेड़ों का ऑर्डर किया। पेड़े खाने और चाय खत्म होने के बाद भी वह नहीं उठे। इस दौरान कुछ हलचल हुई और विजिलेंस ब्यूरो की टीम सीधे होटल में घुस गई। टेबल पर बैठे लोगों में नायब तहसीलदार शमशेर सिंह भी शामिल था। विजिलेंस टीम ने उसे तत्काल हिरासत में ले लिया और आनन-फानन में बाहर खड़े वाहन में बिठाकर हिसार ले गए। होटल में मौजूद अन्य लोग भी निजी वाहनों से विजिलेंस टीम के पीछे हो लिए।