पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • सत कर्मों को ही जीवन का आधार बनाएं

सत कर्मों को ही जीवन का आधार बनाएं

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
करनाल | श्रीशिव चित्रगुप्त, सदर बाजार मंदिर में कार्तिक कथा से निहाल करते हुए स्वामी युगल किशोर गिरी महाराज ने कहा कि कार्तिक मास में ही सत कर्म कर मानव को सत कर्मों को ही अपने जीवन का आधार बनाना चाहिए। अर्थात हमेशा सतकर्म करने चाहिए। उन्होंने कहा कि साधु संतों की शरण में जाने से ही मानव को मोक्ष की प्राप्ति हो सकती है। साधु संतों द्वारा दिए गए उपदेशों को अपने जीवन में धारण करना चाहिए। कार्तिक कथा के समापन पर सैकड़ों भक्तों ने शामिल होकर धर्म लाभ कमाया। इस अवसर पर समाजसेवी बब्बू तुली, अरुण दुग्गल, नवीन खरबंदा, वीना खरबंदा, राहुल भटनागर, अरुण मित्तल, सरला भाटिया, आनंद भटनागर, रमेश चौधरी, कमल किशोर, मोहित शास्त्री, सुशील बिश बू, उमा भारती, ब्रह्मस्वरूप भटनागर, तरुण अरोड़ा, देवेंद्र शर्मा सहित अन्य मौजूद रहे।