--Advertisement--

धरती पर संस्कृत भाषा ही संपूर्ण : शाश्वतानंद

Kurukshetra News - केयूमेंसंस्कृत, पाली प्राकृत विभाग की ओर से आयोजित संस्कृत सप्ताह का गुरुवार को समापन हुआ। कार्यक्रम में संस्कृत...

Dainik Bhaskar

Aug 11, 2017, 02:45 AM IST
धरती पर संस्कृत भाषा ही संपूर्ण : शाश्वतानंद
केयूमेंसंस्कृत, पाली प्राकृत विभाग की ओर से आयोजित संस्कृत सप्ताह का गुरुवार को समापन हुआ। कार्यक्रम में संस्कृत भारत-समर्थ भारत विषय पर आयोजित गोष्ठी में मुख्यातिथि केयू कुलपति डॉ. कैलाश ने कहा कि कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय को संस्कृत विश्वविद्यालय के रूप में शुरु करते समय जो अपेक्षाएं थी, उनकी पूर्ति होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि संस्कृत के उत्थान से ही देश का उत्थान संभव है। इसलिए संस्कृत का ज्ञान सभी को हो, ऐसे प्रयास किए जाएं। मुख्य वक्ता गीता आश्रम के स्वामी शाश्वतानंद गिरी ने कहा कि संस्कृत को सार्वभौम प्रतिष्ठा चाहिए। वह कुछ लोगों तक सीमित नहीं रहनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस धरती पर संस्कृत ही ऐसी भाषा है जो संपूर्ण है। संस्कृत भारती नई दिल्ली की डॉ. चांद किरण सलूजा ने कहा कि संस्कृत शिक्षण पद्धति में परिवर्तन जरूरी है। हरियाणा संस्कृत अकादमी के अध्यक्ष डॉ. सोमेश्वर दत्त ने संस्कृत के लिए अकादमी के प्रयासों और सरकार के सकारात्मक समर्थन के विषय में बताया। कार्यक्रम के संयोजक डॉ. सुरेंद्र मोहन मिश्र ने अंग्रेजी शासनकाल से चले रहे संस्कृत विरोधी षड़यंत्रों का उल्लेख किया। डॉ. श्रीकृष्ण शर्मा, डॉ. शशि मित्तल, डॉ. ताराचंद शास्त्री, प्रो. एनएन मिश्र, डॉ. विभा अग्रवाल, डॉ. कृष्णा रंगा, आचार्य बृजमोहन, रमेश सुखीजा, पूर्व आचार्य एवं अधिष्ठाता प्रो. भीम सिंह, प्रो. रणबीर सिंह, भारतीय विद्या संकाय के अधिष्ठाता प्रो. आरपी मिश्र, डॉ. महेंद्र हंस, डॉ. संस्कृतानंद हरि एवं पूना से आए महेंद्र ने भी अपने विचार रखे। इस अवसर पर प्रो. ललित कुमार गौड़, डॉ. अरुणा शर्मा, डॉ. विनय सिंघल, डॉ. रामचंद्र, सोनूराम, डॉ. रामकुमार शर्मा, रविदत्त शर्मा, अंग्रेज, डॉ. शिवानी, लखजीत, संजय, मनु, सुमन, पंकज, रीटा, मुकेश, सुनील और संदीप मौजूद रहे।

जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में निकाली संध्याफेरी

इस्माइलाबाद| गोसेवा समिति की ओर से श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में गुरुवार को संध्याफेरी निकाली गई। इसका का आयोजन सोम प्रकाश सिंगला ने गोशाला प्रांगण में बने श्रीकृष्ण मंदिर में किया। इस मौके पर सोहनलाल सिंगला, विनय, धर्मवीर सिंह, हेमराज, विवेक, कैलाश सिंगला, सुरभि अग्रवाल, नरेंद्र अग्रवाल, रमेश बंसल, रामकुमार, बोबी सिंगला और मोहिनी शर्मा मौजूद थी। गो सेवा समिति के प्रधान हेमराज सिंगला ने बताया कि छह से 13 अगस्त तक संध्याफेरी का आयोजन किया जा रहा है। 14 को राइस मिल एसोसिएशन के प्रधान सतीश बंसल बतौर मुख्यातिथि श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर झूला झुलाने की रस्म का शुभारंभ करेंगे। इसी दिन रात में सत्संग कीर्तन होगा जिसमें महामंडलेश्वर स्वामी ज्ञानानंद प्रवचन करेंगे। मुख्यातिथि अनाज मंडी एसोसिएशन के चेयरमैन महिंद्र थांदड़ो और विशिष्ट अतिथि मंडी प्रधान नसीब सिंह गुराया होंगे।

गीता पाठ के साथ भजनों से बांधा समा

कुरुक्षेत्र| श्रीकृष्ण कृपा गोशाला एवं सेवा समिति द्वारा 20 अगस्त को सेक्टर सात में प्रस्तावित भगवान कान्हा की छठी के उपलक्ष्य में गीता पाठ पुलिस लाइन में एसआई जयपाल सिंह कृष्ण कुमार के यहां किया। आठवें अध्याय का पाठ किया गया। एएसआई सुनील वत्स,लखबीर सिंह लक्खा, रमाकांत शर्मा, सुरेन्द्र शर्मा, मुनीष खुराना,डा. उमा गौड़, अनिता शर्मा ने भजनों से समा बांधा। इस अवसर पर समिति की ओर से कर्ण पाल, राम कुमार शर्मा लक्खा ने परिवार को स्मृति चिह्न प्रदान किया। सुरेश शर्मा प्रधान, डा. श्याम लाल आहूजा, सुरेन्द्र धीमान, प्रवीण गुप्ता, कृष्ण लाल पूण्डरी, मित्रसेन, तरुण धमीजा, जीवन दास माटा, ज्ञान चन्द मेहता, सतपाल, के के कौशल, तिलक राज धमीजा, शुभम मित्तल,पवन भारद्वाज, मनजीत सिंह, नीरज पूनिया, गुलाब सिंह, समस पाल, गिरवर शर्मा, नवीन हरिपुर,भगवान दास ढींगरा आदि उपस्थित रहे।

कुरुक्षेत्र | कांग्रेसभवन में इस्कॉन की ओर से चल रही कथा में कथावाचक साक्षी गोपाल दास ने श्रद्धालुओं को प्रवचन किए। इस दौरान भारी संख्या में भक्त मौजूद रहे।

X
धरती पर संस्कृत भाषा ही संपूर्ण : शाश्वतानंद
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..