आजादी के 70 साल बाद भी मेवात में दलित असुरक्षित / आजादी के 70 साल बाद भी मेवात में दलित असुरक्षित

Mewat News - एससी-एसटीआयोग के सदस्य ईश्वर सिंह ने कहा कि मेवात क्षेत्र में दलित सुरक्षित नहीं है। वह अपने आपको असुरक्षित महसूस...

Sep 15, 2016, 02:10 AM IST
आजादी के 70 साल बाद भी मेवात में दलित असुरक्षित
एससी-एसटीआयोग के सदस्य ईश्वर सिंह ने कहा कि मेवात क्षेत्र में दलित सुरक्षित नहीं है। वह अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रहा है। देश को आजाद हुए 70 साल हो गए है, लेकिन आज भी दबंगों का राज चलता है। यह बीमारी आज की नहीं बल्कि दशकों पुरानी है। ईश्वर सिंह ने यह बात बुधवार को मेवात जिले के नीमखेड़ा, पुन्हाना, नवलगढ़ गांव में दौरा कर दलित परिवारों से बातचीत के बाद पत्रकारों से कही। ईश्वर सिंह ने सभी मामलों की जांच कर तीन दिन के अंदर जिला प्रशासन के अधिकारियों को रिपोर्ट देने के लिए आदेश दिए। इतना ही नहीं पीड़ित परिवारों को दिल्ली आयोग के कार्यालय में आने के लिए कहा है।

डीएसपीने की लापरवाही

नीमखेड़ागांव में दलित परिवार से मुलाकात के बाद ईश्वर सिंह ने कहा कि डीएसपी शंकुतला ने जांच में लापरवाही बरती। धारा 338 के अंदर आयोग को मामला दर्ज कराने तक का अधिकार है। ईश्वर सिंह ने कहा कि नीमखेड़ा गांव में दलित परिवारों ने जवान लड़कियों को डर की वजह से दूसरी जगह भेज दिया है। अगर तीन दिन में रिपोर्ट में सच्चाई मिली तो सुरक्षा को देखते हुए पुलिस चौकी बैठा दी जाएगी। पट्टा इत्यादि मामलों की जांच उपायुक्त मेवात तथा पुलिस से संबंधित मामलों की जांच पुलिस कप्तान मेवात को करने के आदेश दिए है। पुन्हाना से एक सितंबर को अपहरण की गई युवती का अभी तक सुराग नहीं मिलने के बाद ईश्वर सिंह ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की। मामले में एसआईटी का गठन कर पुलिस कप्तान को कार्रवाई करने के आदेश दिए है।

X
आजादी के 70 साल बाद भी मेवात में दलित असुरक्षित
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना